बांदा में यौन शोषण का आरोपी 30 नवम्बर तक न्यायिक हिरासत में

इंटरनेट पर लंबे समय से पांच से सोलह साल तक के बच्चों के अश्लील वीडियो बेचने और लोगों को भेजने के मामले में सीबीआई ने दिल्ली से एक इंजीनियर को गिरफ्तार किया था।

बांदा: उत्तर प्रदेश में बांदा के अपर सत्र न्यायाधीश ने बच्चों के यौन शोषण के आरोपी जूनियर इंजीनियर रामभवन को आज 30 नवम्बर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

अपर सत्र न्यायाधीश पंचम रिजवान अहमद की कोर्ट में आज बच्चों के यौन शोषण के आरोपी जूनियर इंजीनियर रामभवन की ऑनलाइन पेशी हुई। अदालत ने रामभवन को 30 नवंबर तक न्यायिक हिरासत में बांदा जेल भेज दिया।

कोर्ट ने आपत्तियों के निस्तारण के लिए रिमांड पर बहस की तिथि 24 नवंबर तय की है। सीबीआई को इस दौरान आपत्ति पर जवाब दावा दाखिल करने काे कहा है।

इंटरनेट पर लंबे समय से पांच से सोलह साल तक के बच्चों के अश्लील वीडियो बेचने और लोगों को भेजने के मामले में सीबीआई ने दिल्ली से एक इंजीनियर को गिरफ्तार किया था। सीबीआई ने डेढ़ महीने की जांच और 19 दिन साक्ष्य जुटाने के बाद चित्रकूट में सिंचाई विभाग के निलंबित अवर अभियंता रामभवन को गिरफ्तार किया था। उसे आज वर्चुअल पेश किया गया।

50 से अधिक बच्चों के यौन शोषण के मामले और अश्लील वीडियो इंटरनेट पर अपलोड करने में आरोपी निलंबित सिंचाई विभाग के जेई रामभवन को सीबीआई ने गिरफ्तार किया था। आज बांदा के अपर सत्र न्यायाधीश पंचम रिजवान अहमद की कोर्ट में आज ऑनलाइन वर्चुअल पेशी हुई। सीबीआइ की ओर से अधिवक्ता अशोक कुमार ने रिमांड अर्जी दाखिल की। इसपर बचाव पक्ष के अधिवक्ता देव दत्त त्रिपाठी और अनुराग सिंह चंदेल की ओर से आपत्ति दी गई थी। आपत्ति के निस्तारण के लिए कोर्ट ने चार दिन का समय दिया।

यह भी पढ़े: स्मार्ट सिटी योजना के तहत शासकीय मकान तोड़ने की अनुमति के लिये समिति गठित

Related Articles