बांदा: आखिर ऐसा क्या हुआ कि एक ही जिले में तीन लोगों ने किया एक जैसा काम

बांदा: उत्तर प्रदेश में बांदा जिले के विभिन्न थाना क्षेत्रों में दो युवकों व एक युवती ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने मंगलवार को बताया कि कमासिन थाना क्षेत्र के नारायणपुर गांव निवासी शिवपाल यादव की पुत्री साधना की शादी कानपुर जिले के महाराजपुर थाना क्षेत्र के अमौली गांव निवासी शैलेंद्र के साथ हुई थी।

शैलेंद्र गंभीर बीमारी से पीड़ित था। उसका पहले 6 माह तक कानपुर में इलाज हुआ। बाद में आर्थिक तंगी के कारण ससुरालीजन एक माह पूर्व उसे नारायणपुर गांव ले आए थे। जहां पत्नी साधना रहकर उसका किसी तरह से इलाज करा रही थी। मंगलवार को शैलेंद्र (30) ने ससुराल के एक कच्चे कमरे में धनी के सहारे फंदा डालकर आत्महत्या कर ली।

बांदा में एक और युवक ने चुना मौत का रास्ता 

दूसरी घटना नरैनी कोतवाली थाना क्षेत्र के पनगरा गांव में हुई जहां रोहित (30) ने अज्ञात कारणों से घर में उस समय फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली जब घर पर कोई नहीं था।

लुकतरा गांव में युवती ने जिंदगी का दामन छोड़ा

इसी प्रकार देहात कोतवाली थाना क्षेत्र के लुकतरा गांव निवासी जागेश्वर वर्मा की 22 वर्षीय पुत्री सोमवती ने भी अज्ञात कारणों के चलते उस समय कमरे में दुपट्टे से लटककर आत्महत्या कर ली जब परिवार के सभी लोग खेतों में काम करने गए हुए थे।

यह भी पढ़ें- कुशीनगर में दो युवतियों की मौत, परिजनों ने बिना पोस्टमार्टम किया अंतिम संस्कार

Related Articles

Back to top button