IPL
IPL

फेसबुक पोस्‍ट के बाद मचा बवाल, कट्टरपंथियों ने गांव पर बोला हमला

ढाका: बांग्लादेश (Bangladesh) में सुनामगंज के शल्ला उपजिला स्थित हिंदुओं के गांव नौंगांव में रहने वाले अल्पसंख्यक समुदाय के एक युवक ने कथित तौर पर सोशल मीडिया पर पोस्ट लिखने के बाद एक इस्लामिक समूह के हथियारों से लैस सैकड़ों कट्टरपंथियों ने देश के पूर्वोत्तर में स्थित सिलहट डिवीजन में हिंदुओं के गांव नौंगांव में हमला बोल दिया। कट्टरपंथियों ने इस गांव के 70-80 घरों पर हमला शुरू कर दिया और उन्हें क्षतिग्रस्त कर दिया। ये मामला बुधवार का है लेकिन मीडिया में इसकी जानकारी शुक्रवार को खबरों में सामने आई।

पूरा मामला

ढाका ट्रिब्यून अखबार के मुताबिक, बांग्लादेश (Bangladesh) के सुनामगंज के शल्ला उपजिला स्थित हिंदुओं के गांव नौंगांव में यह हमला इसलिए हुआ क्योंकि गांव के एक युवक ने बंगबंधु शेख मुजीबर रहमान की प्रतिमा लगाने का विरोध करने पर मौलाना के भाषण की आलोचना की थी। हिफाजत-ए-इस्लाम के नेता मामुनुल हक के संघटनों के हजारों लोगो ने सुनामगंज जिले के शल्ला उप जिले में एक हिंदू गांव पर हमला बोल दिया। पुलिस ने बताया कि काशीपुर, नाचनी और कुछ अन्य मुस्लिम बहुल गांवों से हक के समर्थकों ने नवागांव गांव में एकत्रित होकर हिंदुओं के घरों पर डंडों और देसी हथियारों से हमला बोल दिया। इस हमले में 70-80 घर बोला और सभी घरों को क्षतिग्रस्त कर दिया।

ये भी पढ़ें : धार्म‍िक स्‍थल को लेकर मचा बवाल, प्रशासन की कार्रवाई से भड़की आग

फेसबुक पोस्‍ट के बाद बवाल

खबरों के मुताबिक, हक के संघटनों ने गांव पहुंचते ही उत्पात मचाना शुरू कर दिया और उनको देखते ही गांव के कई हिंदू लोग अपनी जान बचा कर भागने लगे। वहीं भीड़ ने घरो में उत्पात मचाने के साथ सभी घरो को लूट लिया। हिफाजत ए इस्लाम के अमीर अल्लामा जुनैद बाबूनगरी, संयुक्त महासचिव मौलाना मुफ्ती मामुनुल हक और कई अन्य नेताओं ने सोमवार को डेरा उपजिला में एक जलसे में भाग लिया था। वहां पर उनके भाषण से आक्रोशित होकर एक हिंदू युवक ने फेसबुक पर आलोचनात्मक पोस्ट लिखी, जिसके बाद भीड़ ने बुधवार को गांव पर हमला किया। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि बांग्लादेश पुलिस के विशेष दलों को घटनास्थल पर तैनात किया गया है। ढाका ट्रिब्यून की खबर के अनुसार शुक्रवार सुबह तक 22 संदिग्धों को गिरफ्तार किया जा चुका था।

ये भी पढ़ें : दिल्ली की जनता को नहीं मिलेगा आराम, इस योजना पर केंद्र सरकार ने लगाया पूर्ण विराम

 

 

Related Articles

Back to top button