2 दिन के लिए बैंक (Bank) बंद, जानें किन सेवाओं पर रहेगी रोक

यूनाइडेट फोरम ऑफ बैंक यूनियन (UFBU) ने सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के निजीकरण के खिलाफ देशभर में आज और कल हड़ताल करने का आह्वान किया है

दिल्ली: यूनाइडेट फोरम ऑफ बैंक यूनियन (UFBU) ने सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के निजीकरण (Privatization) के खिलाफ देशभर में आज और कल हड़ताल (Strike) करने का आह्वान किया है। 2 बैंको के निजीकरण के प्रस्ताव के खिलाफ देशभर में बैंककर्मी हड़ताल कर रहे हैं। दिल्ली के कनॉट प्लेस में समेत तमाम जगहों पर बैंक कर्मचारी विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

जानिए हड़ताल का मुख्य कारण

बिहार की राजधानी पटना में प्रदर्शन कर रहे एक बैंक कर्मचारी ने बताया कि, “बजट (Budget) में सरकार ने दो बैंकों के निजीकरण की घोषणा की है, निजीकरण देश के हित में नहीं है।” यूनाइडेट फोरम ऑफ बैंक यूनियन (UFBU) के 10 लाख कर्मचारी और अधिकारी विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।हड़ताल के कारण जमा, निकासी, चेक क्लीयरेंस और ऋण स्वीकृति (Loan approval) जैसी सेवाएं प्रभावित रह सकती हैं।

सरकारी बैंकों (Government Bank) का निजीकरण करने के सरकार के फैसले के खिलाफ गुजरात के वडोदरा में बैंक कर्मचारी विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। यूनाइडेट फोरम ऑफ बैंक यूनियन (United forum of Bank Union) ने सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के निजीकरण के खिलाफ देशभर में आज और कल हड़ताल बुलाई है।

यह भी पढ़ेBirthday Bash : बचपन में Alia Bhatt का किया ‘संघर्ष’, महज़ 5 साल की उम्र में निभाया था ये किरदार

चंद लोगों के हाथ में बैंक

कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने तंज कसते हुए कहा कि बैंकों का राष्ट्रीयकरण इसलिए किया गया था कि गरीब लोगों को उसका फायदा मिले, सामान्य आदमी को भी लोन मिल सके और वह व्यवसाय कर सके। बैंकों (Bank) में काम करने वाले लोगों को प्रधानमंत्री परेशान कर रहे हैं। वे बैंकों को चंद लोगों के हाथ में देना चाहते हैं।

यह भी पढ़ेBJP सांसद की पुत्रवधू ने की नस काटकर खुदखुशी की कोशिश, बोलीं, ‘मेरा सब कुछ लुट गया’

Related Articles