गोरखपुर लिंक एक्सप्रेसवे के निर्माण में बैंक आफ महाराष्ट्र भी शामिल

अवस्थी ने कहा कि गोरखपुर लिंक एक्सप्रेसवे परियोजना के लिए अधिकतम 2250 करोड़ रूपये के ऋण की सीमा निर्धारित की गयी है. इस कार्य के लिये एक बैंक कन्सोर्शियम के गठन करने की मंजूरी कैबिनेट द्वारा प्रदान की गयी है.

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में गोरखपुर लिंक एक्सप्रेसवे के निर्माण कार्य के लिये बैंको के कन्सोर्शियम में बैंक आफ भी शामिल हो गया है.
यूपीडा के मुख्य कार्यपालक अधिकारी अवनीश कुमार अवस्थी ने सोमवार को बताया कि गोरखपुर लिंक एक्सप्रेसवे के निर्माण के लिए यूपीडा ने अब तक तीन बैंकों से 1250 करोड़ रूपये का ऋण प्राप्त किया है. इन बैंकों में पंजाब नेशनल बैंक, यूको बैंक और बैंक आफ महाराष्ट्र शामिल हैं. एक्सप्रेसवे के लिये 2250 करोड़ रूपये के ऋण प्राप्त करने के लिये कन्सोर्शीयम की स्थापना की जाएगी.

यूपीडा द्वारा गठित किए जाने वाले बैंकों के कन्सोर्शीयम में बैंक आफ महाराष्ट्र को शामिल करते हुए अवस्थी ने बैंक आफ महाराष्ट्र को धन्यवाद दिया.

अवस्थी ने कहा कि गोरखपुर लिंक एक्सप्रेसवे परियोजना के लिए अधिकतम 2250 करोड़ रूपये के ऋण की सीमा निर्धारित की गयी है. इस कार्य के लिये एक बैंक कन्सोर्शियम के गठन करने की मंजूरी कैबिनेट द्वारा प्रदान की गयी है. इस काम के लिये पंजाब नेशनल बैंक ने 750 करोड़ रूपये का ऋण स्वीकृत किया है. पंजाब नेशनल बैंक गोरखपुर लिंक एक्सप्रेसवे परियोजना के वित्त पोषण के लिए बनने वाले बैंक कन्र्सोशियम का नेतृत्व करेगा.

उल्लेखनीय है कि एक्सप्रेसवे जनपद गोरखपुर, गोरखपुर बाईपास एनएच 27 ग्राम-जैतपुर के पास से प्रारम्भ होकर पूर्वांचल एक्सप्रेसवे पर आजमगढ़ में समाप्त होगा. एक्सप्रेसवे की लम्बाई 91.352 किमी है. एक्सप्रेसवे से गोरखपुर, अम्बेडकरनगर, संतकबीरनगर, आजमगढ़ लाभान्वित होंगे. एक्सप्रेसवे चार लेन चौड़ा (छह लेन तक विस्तारणीय) तथा संरचनाएं छह लेन चौड़ाई का बनायी जायेंगी.
एक्सप्रेसवे के एक ओर 3.75 मीटर चौड़ाई की सर्विस रोड स्टैगर्ड रूप में बनाई जायेगी जिससे परियोजना के आस-पास के गांव के निवासियों को एक्सप्रेसवे पर आवागमन की सुविधा उपलब्ध हो सके.

यह भी पढ़े: डिफेंस कारिडोर के तहत अलीगढ़ नोड में छह करोड़ रूपये के निवेश की मंजूरी

Related Articles

Back to top button