बाराबंकी: कांवड़ियों के जत्थे को ट्रक ने रौंदा, एक की मौत

बाराबंकी: सावन का महीना शुरु होते ही शिव भक्तों ने कांवड़ यात्रा शुरु कर दी है। इस बीच सीतापुर से बाराबंकी के लोधेश्वर महादेवा जा रहे कांवड़ियों के पैदल जत्थे को एक तेज रफ्तार ट्रक ने रौंद दिया। इस हादसे में एक कांवड़िये ने  मौके पर ही दम तोड़ दिया। उधर, घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने सरकारी कोरम पूरा कर मामले को ठंडे बस्ते में डाल दिया है। पुलिस कांवड़िये की मौत मामले में चुप्पी साधे है।

दरअसल, कावड़ियों का एक जत्था सीतापुर से पैदल बाराबंकी के महादेवा की ओर जालभिषेक के लिए जा रहे था। इस बीच रामनगर थाना क्षेत्र के रानीगंज गांव के पास ही तेज रफ्तार में आ रहे ट्रक ने कांवड़िए के जत्थे को कुचल दिया, जिससे एक युवक की मौके पर ही मौत हो गई। नाराज कांवड़ियों ने ट्रक ड्राइवर को दौड़ाकर पेट्रोल पंप पर रोक लिया। वहां के लोगों ने ट्रक ड्राइवर और कावड़ियों के बीच मामले को सुलझाने का प्रयास किया। लेकिन कुछ बात नहीं बनी और मामला कुछ ही देर में मारपीट पर आ गया।

कांवड़ियों ने पेट्रोल पंप मैनेजर पर लगाया आरोप

कांवड़ियों का आरोप है कि पेट्रोल पंप के मैनेजर ने बीस पच्चीस गुंडों को बुलावाकर उनकी पिटाई की। कांवड़ियों ने कहा कि मैनेजर के कहने पर दो दर्जन से अधिक लोग आये और उन्हें लाठी डंडों से पीटने लगे। कांवड़ियों ने पुलिस पर भी मामले की लीपापोती का आरोप लगाया है।

पुलिस पर लीपापोती का लगा आरोप

कांवड़ियों का आरोप है कि बाराबंकी पुलिस मामले से पल्ला झाड़ रही है। हमने इस पूरी वारदात की शिकायत की, लेकिन पुलिस ने किसी की हादसे मौत की बात से इंकार किया है। उधर पुलिस अब इस मामले में कुछ भी बोलने को तैयार नहीं।

योगी सरकार ने दिए थे सुरक्षा के सख्त निर्देश

गौरतलब हो कि कुछ दिन पहले ही योगी सरकार के सख्त निर्देश थे कि जिन क्षेत्रों से कांवड़िये गुजरते हैं वहां उनकी सुरक्षा के खास इंतजाम किए जाएंगे। इतना ही नहीं अन्य कई निर्देश भी दिए गए थे। लेकिन इस मामले ने सरकारी दावों की पोल कोल दी है।

Related Articles