Barbara ने किया खुलासा, ‘राज नाम बताकर मिला था Mehul Choksi, मै उसकी Girl Friend नही’

नई दिल्ली: भारत से PNB घोटाला कर भागे हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी ( Mehul Choksi ) मामले में जिस ‘मिस्ट्री गर्ल’ बारबरा जराबिका ( Barbara Jarabica ) की बार-बार चर्चा की जा रही उससे भारतीय मीडिया चैनलों के सहयोगी चैनलों ने ढूंढ़ कर बातचीत की है. इस बात चीत में Barbara Jarabica ने कई दावे किये हैं. उसने दावा किया कि जिस दिन मेहुल चोकसी लापता हुआ था उस दिन वो एंटीगुआ में नहीं थी.

राज नाम बताकर मिला था Mehul Choksi

हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी (Mehul Choksi) की कथित खूबसूरत Girl Friend बारबरा जराबिका ( Barbara Jarabica ) ने चोकसी के साथ अपने रिश्तोंकी जानकारी देते हुए कहा, ‘वो मुझे पसंद करता था लेकिन इसे गुप्त रखा.’ चोकसी ने जराबिका को अपना नाम राज बताया था. जराबिका का दावा है कि उसे चोकसी के अतीत के बारे में कोई जानकारी नहीं थी. उसने एक हीरा उपहार में दिया जो नकली था और बहुत झूठ बोला था.

Barbara ने अपहरण का आरोप किया खारिज

Mehul Choksi की कथित खूबसूरत Girl Friend बारबरा जराबिका ( Barbara Jarabica ) ने बताया कि उसकी और मेहुल चोकसी की फर्स्ट मीटिंग पिछले साल अगस्त में हुई थी. साथ ही उसने किडनैपिंग के आरोपों को सिरे से खारिज किया है. कहा है कि दिन के समय अपहरण का कोई सवाल ही नहीं उठता. मुलाकात कैसे हुई, इस बारे में बताते हुए Barbara Jarabica  ने कहा, वह प्रोपर्टी कंसल्टेंट के तौर पर काम करती है. बीते दो वर्षों से वह एंटीगुआ में थी इसी दौरान उसकी मुलाकात मेहुल से हुई. जब मुलाकात हुई तब ज्यादातर स्टाफ मेहुल को राज कह कर ही बुला रहा था.

Barbara , Mehul से कैसे मिलीं ?

मेहुल चोकसी से मिलने की बात पूछने पर Barbara Jarabica ने कहा, ‘मैं उनसे मिली तब मैं एंटीगा में थी. पिछले कुछ सालों में मैंने लगभग सभी कैरिबियन देशों का दौरा किया है. मुझे ट्रेवलिंग बेहद पसंद है. दो साल पहले मैं पहली बार एंटीगा गई थी और उससे यानि राज से मिली. अगस्त का  महिना था. यानी करीब आठ महीने पहले. हमने उस क्षेत्र में एक Airbnb किराए पर लिया था, क्योंकि कोविड के कारण, वहां बहुत सारे होटल या अन्य घर उपलब्ध नहीं थे. लेकिन उसने धोखा दिया. झूठ बोला. मुझे अब पता चल रहा है कि वो राज नहीं मेहुल चोकसी है. उसे रेस्टोरेंट में भी सब इसी नाम से जानते हैं. जब मीडिया के लोगों ने उससे जाँच के बारे में पूछा तो उसने कहाहां, बिल्कुल. मुझे जांच में सहयोग और समर्थन करने में खुशी होगी. मुझे जो भी जानकारी है, मैं उसे प्रोवाइड कराऊंगी.

ये भी पढ़ें : अनाथ बच्चों का सहारा बनी Uttarakhand सरकार, ‘वात्सल्य योजना’ पर कैबिनेट की मंजूरी

Related Articles