विजय माल्या के लिए तैयार किया जा रहा आर्थर रोड जेल का बैरक

0

मुंबई : आर्थर रोड जेल की शक्ल सूरत एक महीने में बदल दी गई है। इस जेल की बैरक नंबर 12 की फर्श और टाइल्स रंग रूप सब बदला जा चूका है बाथरूम की अच्छे से मरम्मत की जा रही है।

बता दें यह सब कुछ सिर्फ इसलिए हो रहा है क्योंकि फरार कारोबारी विजय माल्या ने ब्रिटेन में ये हवाला दिया है की भारत देश की जेलों के हालात बहुत खराब है और इसी लिए वो यहाँ आने से पीछे हट रहा है।

बताया जा रहा है कि अगर भारत और ब्रिटेन के बीच प्रत्यर्पण हुआ तो विजय माल्या को आर्थर रोड जेल में रखा जा सकता है।

माल्या के प्रत्यर्पण के लिए जुटी सीबीआई ने जेल का वीडियो शूट किया है। प्रत्यर्पण के लिए इस टॉप सीक्रेट विडियो को विदेश मंत्रालय को भेजा है। PWD का ठेका लेने वाली प्रमेश कंस्ट्रक्शन्स ने बैरक को दोबारा बनाया है। इसी बैरक का निर्माण 26/11 हमलों के दोषी आतंकी अजमल कसाब को कैद रखने के लिए किया गया था।

इसके देकेदार मिरर ने पूछताछ में इस बात का खुलसा न करने की बात कही है। उसने सिर्फ इतना ही बतया की। मै और में सहयोगियों ने सेल की पुताई के साथ ही बैरक नंबर 12 की ओर जाने वाले रास्ते को पक्का किया है। हमने फर्श और टॉइलट को बिल्कुल नया कर दिया है।

दरअसल माल्या के वकीलों ने लंदन की कोर्ट में दलील दी थी कि आर्थर रोड जेल में नैचरल लाइट का इंतजाम नहीं है। पाटिल का कहना है कि सूर्य की रोशनी को रिफ्लेक्ट करने के लिए सेल में एक काली दीवार पेंट की गई है।

ये भी पढ़ें…..नासा ने की मदद, तब जाकर सुलझ पाई भारत की सबसे बड़ी ट्रेन रॉबरी

उन्होंने बताया कि दो सेल को दोबारा से बनाया गया है। दीवार पर टाइल लगाने के साथ ही फर्श का नवनिर्माण किया गया है। यहां तक कि बाथरूम फिटिंग भी बदली गई है और इसमें नया कमोड और जेट स्प्रे लगाया गया है।

loading...
शेयर करें