सीएम को सेफ प्वाइंट दिखेगा गोरखपुर का ‘Suicide Point’

jumb1गोरखपुर। राप्ती नदी के ऊपर बना राजघाट पुल गोरखपुर का सबसे चर्चित सुसाइड प्वाइंट है। शायद ही कोई महीना ऐसा होता है जब एक- दो आत्महत्याएं यहां न होती हों। बीते पांच सालों के भीतर 100 से ज्यादा आत्महत्याएं यहां से हो चुकी है। अब इस सुसाइड प्वाइंट में लखनऊ की तर्ज पर गोरखपुर के राजघाट पुल पर बाड़ लगाये जा रहे हैं। सीएम के गोरखपुर दौरे से पहले इस काम के पूरा होने की उम्मीद है।

राजघाट पुल में आए दिन छलांग लगाकर आत्हत्या की सूचनायें आम हैं। बसपा सरकार में ही इस बात की मांग उठी थी कि राजघाट पुल पर बाड़ लगाया जाए। अखिलेश यादव विचार मंच के संयोजक संतोष यादव ने इस मुद्दे पर लगातार संघर्ष किया। जिला प्रशासन की पहल पर अब लंबे समय से चली आ रही मांग पूरी होने जा रही है।

तैनात रहते हैं गोताखोर

आत्महत्या की घटनाओं को देखते हुये राजघाट पुल के पास 24 घंटे पीएसी के गोताखोर तैनात रहते हैं। जब कोई भी नदी में छलांग लगाता है तो गोताखोर ढूंढने की पूरी कोशिश करते हैं। कई बार नदी की तेज धार खुदकुशी की कोशिश करने वालों को बहा ले जाती है।

17 तक पूरा होगा काम

सीएम अखिलेश यादव 17 दिसंबर को गोरखपुर आएंगे। उनके आने से पहले राजघाट पुल के दोनों तरफ बाड़ लगाने का काम पूरा हो जाएगा। सीएम इस कार्य का भी लोकार्पण करेंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button