सिंघु गांव से हटाई गई बैरिकेडिंग, 29 दिन बाद खुला गांव का रास्ता

नई दिल्‍ली: 26 जनवरी से बंद पड़े सिंघु (Singhu) गांव के रास्ते को अचानक मंगलवार की शाम को 7:30 बजे खोल दिया गया है। सिंघु गांव में आने जाने वाले लोगों को बड़ी समस्या का सामना करना पड़ रहा था। दरअसल, दिल्ली सहित कई राज्यों में 26 जनवरी को कृषि कानूनों को वापस करने की मांग को लेकर किसानों ने ट्रैक्टर मार्च निकाला था। इस दौरान लाल किला व कई इलाकों में उपद्रव मच गया। इस हिंसा के बाद से दिल्ली पुलिस ने सिंघु बॉर्डर (Singhu border) से लगने वाले मुख्य मार्ग को बंद कर दिया गया था।

NH 1 की तरफ जा सकते है

सिंघु गांव में आने जाने वाले लोगो के लिए फिरनी गांव की तरफ से रास्ता खोला गया है। सिंघु गांव के इस रास्ते से NH 1 की तरफ आने वाले वाहनों के लिए ही खोला गया है। सिंघु गांव से दो पहिया वाहन व कार जैसे कई वाहन अब नेशनल हाईवे 1 (NH 1) पर अब इस रास्ते से आ-जा सकते हैं। आपको बता दें कि दिल्ली पुलिस ने 26 जनवरी को लाल किले पर हुई घटना के बाद से इस रास्ते को बंद कर दिया गया था।

ये भी पढ़ें : दिल्ली दंगों का एक साल, जानिए सिलसिलेवार घटनाक्रम

रास्ते बंद होने से लोग थे परेशान

सिंघु बॉर्डर का रास्ता बंद होने पर गांव में पहुंचने के लिए पीछे वाले फिरनी रास्ते से सिंघोला गांव से होते हुए आना होगा। सिंघु रास्ता बंद होने की वजह से उस इलाके के आस-पास के लोगो को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता था। मंगलवार से अब इस रास्ते के खुलने के बाद ग्राम वासियों के साथ-साथ आस-पास के गांव वालों को भी आने जाने में आसानी होगी। दिल्ली पुलिस की तरफ से इस रास्ते को पत्थरों की बड़ी-बड़ी बैरिकेडिंग के साथ कटीले तारों से बंद कर दिया गया था।

ये भी पढ़ें : राखी सावंत ने इंस्टाग्राम पर शेयर की तस्वीर, लोग मांगने लगे दुआएं

 

 

Related Articles

Back to top button