बसंत पंचमी विशेष : विद्या की वृद्धि के लिए की जाती है मां सरस्वती की पूजा

0

नई दिल्ली। देश में आज बसंत पंचमी के त्यौहार की धूम मची हुई है। संगम तट पर भारी संख्या में लोगों स्नान-ध्यान करने पहुंचे हैं। घरों व स्कूलों मे भी पंचमी के इस त्यौहार पर विशेष पूजन का दौर चल रहा है। मां सरस्वती की कृपा हासिल करने के लिए छात्र इस दिन विद्दा की देवी सरस्वती की पूजा-अर्चना करते हैं। बसंत पंचमी के मौके पर देश के पीएम नरेन्द्र मोदी व राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द ने ट्वीट कर देशवासियों को इस त्यौहार की बधाई दी है।

विद्दा और कला की जननी मां सरस्वती से जुड़ा है पंचमी के त्यौहार का महत्व

पुराणों के अनुसार मां सरस्वती का प्राकट्य बसंत पंचमी के दिन हुआ था। इस दिन विद्या और कला जननी मानी जाने वाली मां सरस्वती की लोग पूजा अर्चना करते हैं। इसके अलावा भारत के अलग-अलग जगहों पर मां सरस्वती की पूजा, वंदना और सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है।

कहा जाता है कि लोगों को मां सरस्वती विद्या और कला में निपुण बनाती हैं। इसके अलावा यह दिन भारत के छह मौसमों में से एक ‘बसंत ऋतु’ के आगमन की खुशी में भी मनाया जाता है।

क्या है बसंत पंचमी की विशेषताएं

विद्यादायिनी देवी का दिन होने के कारण इस दिन पढ़ाई-लिखाई की शुरुआत की जाती है। छोटे बच्चों का इस दिन अक्षरों से परिचय कराया जाता है, और माना जाता है कि इससे वे अकादमिक में अच्छे होते हैं। किसी दूसरे काम के लिए भी इस दिन शुरुआत करने को शुभ मानते हैं। इस त्योहार पर पीले रंग का महत्व बताया गया है क्योंकि बसंत का पीला रंग समृद्धि, ऊर्जा, प्रकाश और आशावाद का प्रतीक है। इसलिए इस दिन पीले रंग के कपड़े पहनते और व्यंजन बनाते हैं।

पूजा की विधि

बसंत पंचमी के मौके पर लोग पीले रंग के कपड़े पहनते हैं। हिंदू पंचांग के मुताबिक, पंचमी तिथि सूर्योदय और दोपहर के बीच रहती है। बसंत पंचमी पर मां सरस्वती पूजा करते समय सरस्वती चालीसा का पाठ जरूर करना चाहिए। मान्यता है कि इस दिन गृह प्रवेश, वाहन खरीदना,नींव पूजन, नया व्यापार प्रारंभ जैसे मांगलिक कामों की शुरुआत करने पर शुभ फल मिलता है।

पूजा मुहूर्त

बसंत पंचमी पूजा मुहूर्त सुबह 07:17 से शुरू है, इसकी अवधि 5 घंटे 15 मिनट तक रहेगी। पंचमी तिथि की शुरुआत 21 जनवरी 2018 रविवार को 15:33 बजे से है और इसकी समाप्ति 22 जनवरी 2018 सोमवार को 16:24 बजे तक है।

loading...
शेयर करें