इस मुद्दे पर आधारित है राहुल रंजन की फिल्म ‘रैकेट’

नई दिल्ली: फिल्म ‘रैकेट’ के निर्देशक राहुल रंजन ने कहा कि वह लंबे समय से बैंकों व दूसरे दफ्तरों में चालबाजों को काम करते देख रहे हैं और उनकी यह फिल्म उसी वास्तविकता पर आधारित है। रंजन ने कहा, “मैं लंबे समय से चालबाजों और दफ्तरों के हालात पर गौर कर रहा हूं। मैंने बैंकों में कई ऐसे सरकारी अधिकारी देखे हैं, जो ऋण स्वीकृति पत्र या रोजनामचे का मसौदा तैयार नहीं कर सकते, लेकिन वे पूरे देश में शाखा प्रबंधकों के रूप में काम कर रहे हैं।”

उन्होंने कहा, “अधिकारियों और लिपिक कर्मचारियों की इसी नस्ल को अन्य सरकारी कार्यालयों में भी देखा जा सकता है और यह वास्तव में मुझे परेशान करता है और पूरी प्रक्रिया पर रचनात्मक रूप से काम करने के लिए प्रेरित है।” एआर प्रोडक्शंस प्राइवेट लिमिटेड द्वारा निर्मित फिल्म में मयंक शुक्ला, सुमन जैन, दिशा सचदेव, विस्मय और संदीप जैसे सितारे प्रमुख भूमिकाओं में हैं।

Related Articles