बावनखेड़ी हत्याकांड: क्यों टली हत्यारी शबनम की फांसी, जानें क्या रही वजह  

अमरोहा: बावनखेड़ी हत्याकांड (Bawankhedi murder case) की आरोपी शबनम की फांसी एक बार फिर फिलहाल के लिए टल गई है। जनपद न्यायालय ने सुनवाई के दौरान अभियोजन से आरोपी शबनम का ब्योरा मांगा था। इस पर शबनम के अधिवक्ता ने कोर्ट को बताया कि राज्यपाल को पुनः दया याचिका भेजी गई है। इस वजह से फिलहाल शबनम की फांसी की तारीख तय नहीं हो पाई है।

शासकीय अधिवक्ता महावीर सिंह ने बताया कि रामपुर जेल प्रशासन ने बताया है कि शबनम ने राष्ट्रपति महोदय के नाम दया याचिका दूसरी बार उत्तर प्रदेश के राज्यपाल के माध्यम से भेजी है। अभी इस दया याचिका पर फैसला लंबित है, इस वजह से कोर्ट ने फांसी फिलहाल के लिए टाल दी है।

पहले हो भी हो चुकी है दया याचिका खारिज

जिले के बामनखेड़ी हत्याकांड (Bawankhedi murder case) में शबनम की दया याचिका राष्ट्रपति द्वारा खारिज कर दी गई थी। इसके बाद आज अमरोहा सेशन कोर्ट शबनम की सुनवाई करेगा। सुनवाई के बाद शबनम को कब फांसी होगी। इसकी रिपोर्ट रामपुर मथुरा जेल को भेजी जाएगी।

अमरोहा सेशन कोर्ट में हुई सुनवाई

बता दें कि 13 साल पहले अपने प्रेमी के साथ मिलकर परिवार के सात लोगों की बेरहमी से हत्या करने वाली शबनम को फांसी की सजा सुना दी गई थी। इसके बाद शबनम ने राष्ट्रपति के यहां दया याचिका दी थी। राष्ट्रपति ने शबनम की दया याचिका खारिज कर दी थी। उसके बाद मंगलवार को अमरोहा सेशन कोर्ट में सुनवाई हुई। सुनवाई के बाद फिलहाल शबनम की फांसी टाल दी गई है। शबनम अभी रामपुर जेल में बंद है।

दो अधिवक्ताओं ने शबनम से की थी मुलाकात

बताया जा रहा है कि दो अधिवक्ता रामपुर जेल में शबनम से मिले थे। इसके बाद उन्होंने शबनम की तरफ से राज्यपाल को दया याचिका भेजे जाने की जानकारी भी दी थी। इस पर शबनम के अधिवक्ता शमशेर सैफी ने बताया है कि सेशन कोर्ट के फैसले के बाद आगे की प्रक्रिया पर कोई निर्णय लिया जाएगा।

यह भी पढ़ें: उन्नाव की बेटी ने जांच अधिकारी को दिया बयान, जल्द होगा जुर्म का पर्दाफाश

Related Articles

Back to top button