BCCI का बड़ा फैसला, IPL 2021 से Soft Signal को किया OUT

नई दिल्ली: इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) की तारीखों के ऐलान के बाद फैंस टूर्नामेंट ( Tournament ) का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। IPL के 14वें के आगाज से पहले भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने बड़ा फैसला लिया है। BCCI ने विवादों में रहने वाले ‘सॉफ्ट सिग्नल’ ( Soft Signal ) के नियम को IPL 2021 से हटा दिया है। साथ ही अब थर्ड अंपायर मैदानी अंपायर के नो-बॉल और शॉर्ट रन के निर्णय को भी बदल सकेंगे।

IPL से सॉफ्ट सिग्नल OUT

भारत और इंग्लैंड ( India and England ) के बीच हाल ही में खेली गई टी20 सीरीज में सुर्खियों में रहने वाले सॉफ्ट सिगनल ( Soft Signal ) को BCCI ने IPL 2021 में हटा दिया है। BCCI ने बताया है कि IPL 2021 में तीसरे अंपायर को फैसले भेजने से पहले मैदान अंपयार को सॉफ्ट सिग्नल देने की कोई जरूरत नहीं होगी।  इसके अलावे अब तीसरा अंपायर मैदानी अंपायर के नो-बॉल और शॉर्ट रन के निर्णय को भी बदल सकेगा.

क्या होता है सॉफ्ट सिग्नल?

किसी खिलाड़ी के निर्णय को लेकर जब मैदानी अंपायर तीसरे अंपायर के पास जाता था तो उससे पहले उसे सॉफ्ट सिग्नल यानी अपना फैसला देना होता है कि वह आउट ( Out ) है या नहीं। जिसके बाद थर्ड अंपायर उसे रिप्ले कर देखता है और जब तीसरे अंपायर को ठोस सबूत नहीं मिलते हैं तो वह मैदानी अंपायर के फैसले मान लेता है। लेकिन अब ऐसा नहीं हो सकेगा। मैदानी अंपायर को सीधे तीसरे अंपायर को फैसला ट्रांसफर कर देना होगा।

इंग्लैंड के खिलाफ विवादों में रहा सॉफ्ट सिग्नल

भारत और इंग्लैंड के बीच चौथे टी20 में सूर्यकुमार यादव के गलत आउट देने के बाद काफी बवाल मचा हुआ था। इसपर विराट कोहली ने नाराजगी जाहिर करते हुए BCCI से इस नियम को हटाने की मांग की थी। विराट कोहली ने कहा था कि अंपायर के पास ‘मुझे नहीं पता’ का ऑप्शन क्यों नहीं हो सकता है। ऐसे फैसले मैच के रुख को बदल सकते हैं, खासकर से इन बड़े मैचों में। आज हम इससे प्रभावित हुए और कल हमारी जगह कोई और टीम हो सकती है।

यह भी पढ़ें: Kuldeep का बाहर होना लगभग तय, ऐसे होगी Ind vs Eng की संभावित Playing XI

Related Articles

Back to top button