अफगानिस्‍तान पर तालिबानी राज से BCCI चिंतित, IPL में इन खिलाड़ियों के खेलने पर संशय

आपको बता दें, IPL 2021 के शेष सत्र की शुरुआत 19 सितंबर से सयुंक्त अरब अमीरात में होने जा रही है। वहीं, दूसरी तरफ तालिबान अफगानिस्तान की बागडोर संभालने की तैयारी में है।

नई दिल्ली: अफगानिस्तान में जारी राजनीतिक उठापटक के बीच एक नई स्थिति मोड़ ले सकती है। IPL में खेलने वाले उनके शीर्ष क्रिकेटरों में शामिल राशिद खान और मोहम्मद नबी के भाग लेने पर अनिश्चितता बरकरार है।

आपको बता दें, IPL 2021 के शेष सत्र की शुरुआत 19 सितंबर से सयुंक्त अरब अमीरात में होने जा रही है। वहीं, दूसरी तरफ तालिबान अफगानिस्तान की बागडोर संभालने की तैयारी में है। देश के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने भागकर ताजिकिस्तान में शरण ले ली है। फिलहाल, राशिद खान और मोहम्मद नबी अफगानिस्तान में नहीं हैं। मौजूदा समय में दोनों क्रिकेटर इंग्लैंड में द हंड्रेस टूर्नामेंट में शिरकत कर रहे हैं।

बीते कुछ साल में अफगानिस्‍तान में क्रिकेट का अच्‍छा विकास हुआ है। अफगान क्रिकेटर्स ने इंटरनेशनल क्रिकेट में धूम मचाने के साथ-साथ ही IPL जैसी बड़ी लीग्‍स में भी अपना लोहा मनवाया। मगर, अब राशिद खान, मोहम्‍मद नबी जैसे अफगान क्रिकेटर्स को लेकर BCCI थोड़ी चिंता में आ गई है।

खबर के मुताबिक, एक सूत्र ने कहा कि कुछ भी कहना जल्‍दबाजी होगी, लेकिन हम नजर रखे हुए हैं। हमारे लिए कुछ भी नहीं बदला है और हम उम्‍मीद करते हैं कि राशिद और बाकी अफगान क्रिकेटर्स IPL में शामिल होंगे। अब ऐसे में देखना होगा कि क्या राशिद खान और मोहम्मद अली 21 अगस्त को द हंड्रेड टूर्नामेंट पूरा होने के बाद स्वदेश आएंगे या ब्रिटेन में ही रुकेंगे।

BCCI की अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड से बात करने की उम्मीद 

ऐसी स्थिति में यह दोनों खिलाड़ी ब्रिटेन में रहते हैं तो क्या BCCI उन्हें चार्टेड प्लेन से आने के लिए कहेगा। क्योंकि 15 सिंतबर को भारतीय टीम मैनचेस्टर से UAE के लिए उड़ान भरेगी। मोहम्मद नबी और राशिद खान IPL टीम सनराइजर्स हैदराबाद के लिए खेलते हैं। इस दौरान BCCI के अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड से बातचीत करने की उम्मीद है।

बता दें, राशिद खान अफगानिस्तान के टी-20 कप्तान हैं। राशिद के अलावा मोहम्मद नबी और मुजीब जादरान ऐसे क्रिकेटर हैं, जो IPL टीमों का नियमित हिस्सा हैं। मौजूदा समय में राशिद खान विश्व क्रिकेट में सबसे अधिक मांग वाले टी-20 क्रिकेटरों में शामिल हैं।

यह भी पढ़ें: काबुल हवाई अड्डे से भागने के लिए अफ़गानों के झुंड में 5 की मौत

(Puridunia हिन्दीअंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)…

Related Articles