#B’DaySpecial : कर्नल सीके नायडू की विरासत को आगे बढ़ा रहे हैं कप्तान कोहली

0

नई दिल्ली। कोट्टेरी कनकैया नायडू को शायद आज की पीढ़ी न जानती हो लेकिन ये वही शख्स हैं जिन्होंने लंबे समय तक प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेला। यही नहीं, नायडू को भारतीय क्रिकेट टीम के पहले कप्तान बनने का गौरव भी मिला है। 31 अक्टूबर 1895 को नागपुर में जन्मे नायडू ने साल 1958 तक प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेला। साल 1932 में टेस्ट फॉर्मेट से अपने करियर की शुरुआत करने वाले नायडू ने 25 जून 1932 को इंग्लैंड के खिलाफ अपना पदार्पण किया था।

Image result for C. K. Nayudu

कर्नल सीके नायडू के नाम से फेमस नायडू अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत सिर्फ सात साल की उम्र में कर दी थी। तब ये अपने स्कूल में क्रिकेट खेला करते थे। इन्होंने अपने प्रथम श्रेणी क्रिकेट की शुरुआत साल 1916 में बॉम्बे ट्रेंगुलर ट्रॉफी में की थी। नायडू ने आखिरी टेस्ट मैच 15 अगस्त 1936 को इंग्लैंड के खिलाफ खेला था।

नायडू ने अपने जीवन में कुल 207 फर्स्ट क्लास मैच खेले। उन्होंने अपने टेस्ट करियर में कुल सात टेस्ट मैच खेले थे जिसमें 25.00 की औसत से 350 रन बनाए थे जिसमें दो अर्धशतक लगाए थे। साथ ही नायडू गेंदबाजी करते हुए नौ विकेट भी लिए थे। नायडू ने भारत में क्रिकेट का एक अलग ही क्लास बनाया था। आज की पीढ़ी भले उन्हें न जानती हो मगर जिस विरासत को आज मौजूदा कप्तान विराट कोहली को आगे बढ़ा रहे हैं, उसका ढांचा और नींव नायडू ने तैयार की थी।

loading...
शेयर करें