लाइसेंसी रिवॉल्वर धारी रहे सावधान! कही बुझ न जाए चिराग, लखनऊ में हुई ये घटना

लखनऊ के ठाकुरगंज इलाके में बीकॉम प्रथम वर्ष के एक छात्र ने पिता की लाइसेंसी रिवॉल्वर से खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली हैं। गोली की आवाज सुनते ही जब परिजन कमरे में दाखिल हुए तो देखा की वह बेड पर खून से लथपथ पड़ा हुआ शव मिला।

लखनऊ: यूपी की राजधानी लखनऊ के ठाकुरगंज इलाके में बीकॉम प्रथम वर्ष के एक छात्र ने पिता की लाइसेंसी रिवॉल्वर से खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली हैं। गोली की आवाज सुनते ही जब परिजन कमरे में दाखिल हुए तो देखा की वह बेड पर मृत अवस्था में खून से लथपथ पड़ा हुआ है। सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस और फोरेंसिक टीम पहुंची और घटना स्थल का निरीक्षण किया। पुलिस ने मृतक छात्र का मोबाइल कब्जे में ले लिया है और कॉल डिटेल के आधार पर पता लगा रही है आखिरी बार किससे बात हुई है। घटना स्थल से कोई भी सोसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है पुलिस आत्महत्या की वजह तलाशने में जुटी है।

जानकारी के मुताबिक ठाकुरगंज क्षेत्र के सरदार नगर में रमेश कुमार सिंह अधिवक्ता के बेटे रवि प्रताप सिंह ने खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली है। अधिवक्ता रमेश कुमार सिंह बुधवार को कोर्ट गए हुए थे। इस बीच उनका बीटा रवि (16) दोपहर में घर के अंदर कमरे में अलमारी में रखी पिता की लाइसेंसी रिवॉल्वर निकलकर माथे पर सटा कर खुद को गोली से उड़ा दिया। गोली की आवाज सुनकर रवि का भाई यश, बहन ऋचा व अन्य परिवारीजन आनन-फानन में कमरे में पहुंचे तो बेड पर खून से लथपथ रवि को पड़ा देख उनकी चींख निकल पड़ी।

ये भी पढ़ें : बिहार के बाद ओवैसी की यूपी पर नजर, ओम प्रकाश राजभर से की मुलाकात

खून से लथपथ मिला छात्र का शव

कमरे के अंदर खून से लथपथ पड़े रवि को लेकर परिजन आनन-फानन में अस्पताल लेकर पहुंचे। वहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। बेटे की मौत की सूचना मिलते ही पिता रमेश कुमार सिंह ने अस्पताल पहुंचे और उसे देखते ही उनके होश उड़ गए। उन्होंने बताया कि बेटा कालीचरण महाविद्यालय से बीकॉम प्रथम वर्ष का छात्र था। बेटे द्वारा खुद गोली मारकर आत्महत्या की उन्हें कोई जानकारी नहीं है।

ये भी पढ़ें : डीडीसी चुनाव: सातवें चरण में 31 सीटों पर मतदान खत्म, 57 फीसदी हुए वोटिंग

आत्महत्या की वजह तलाश रही पुलिस

इंस्पेक्टर ठाकुरगंज राजकुमार ने बताया कि घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस और फोरेंसिक टीम ने घटना स्थल का निरीक्षण पहुंची। राजकुमार ने बताया कि छात्र के आत्महत्या के कारणों की जांच की जा रही है। उसके शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और छात्र के मोबाइल को कब्जे में लेकर कॉल डिटेल के आधार पर पता लगाया जा रहा है कि आखिरी कॉल पर बात किससे हुई थी। अभी तक आत्महत्या की वजह नहीं पता लगी और इसकी जांच की जा रही है।

Related Articles

Back to top button