चुनाव से पहले भाई-बहन ने भरी हुंकार, बताया किसने सिखाई सियासत ?

अमेठी को राहुल गांधी ने बताया अपना घर

2019 लोकसभा चुनाव में हार के करीब 2.5 साल बाद पहली बार अमेठी पहुंचे राहुल गांधी ने इसे ‘अपना घर’ बताते हुए कहा कि उन्होंने यहां से राजनीति की शुरुआत की और यहीं सियायत का तरीका सीखा. बहन प्रियंका गांधी के साथ पदयात्रा से पहले जगदीशपुर में राहुल गांधी ने यह भी बताया कि कैसे उनका अमेठी आने का प्रोग्राम बना. उन्होंने कहा, ”कुछ दिन पहले प्रियंका मेरे पास आई और उसने मुझे कहा कि लखनऊ चलो. मैंने बहन से कहा कि लखनऊ जाने से पहले मैं अपने घर जाना चाहता हूं. लखनऊ आने से पहले अपने परिवार से बात करना चाहता हूं.”

हिंदू और हिंदुत्व का उछाला मामला

बता दें कांग्रेस नेता राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा शनिवार को पदयात्रा के दौरान अमेठी पहुंचे. इस दौरान राहुल गांधी ने एक बार फिर से हिंदू और हिंदुत्व का मामला उछाला. राहुल गांधी बोले कि गांधीजी ने कहा था कि हिंदू का रास्ता सत्याग्रह है, जबकि हिंदुत्ववादी का रास्ता सत्ताग्रह हैं. जो अन्याय के खिलाफ लड़ता है वो हिंदू है और जो हिंसा फैलाता है वो हो हिन्दुत्ववादी है.

मोदी सरकार पर भी जमकर निशाना साधा

इससे पहले राहुल गांधी ने कहा कि सरकार कृषि कानून किसानों के हित में लाई थी, लेकिन एक साल बाद पीएम ने इसे लेकर माफी मांगी. सरकार जो भी कानून लेकर आई, चाहे वह नोटबंदी हो, जीएसटी हो या किसान कानून इसका किसी को कोई लाभ नहीं हुआ. हम पूछते हैं कि क्या यह पूंजीपतियों के लिए लाए गए थे.

यह भी पढ़ें- UP चुनाव से पहले योगी सरकार का बड़ा फैसला, आदेश जारी

(Puridunia हिन्दी, अंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब  पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)…

Related Articles