पीएम मोदी के दौरे से पहले खुफिया विभाग के हाथ लगा संदिग्ध अफगानी, पूछताछ जारी

0

देहरादून। विश्व योग दिवस के मौके पर उत्तराखंड पहुंच रहे पीएम मोदी की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए यहाँ चेकिंग अभियान चलाया गया। इस अभियान के दौरान एलआईयू व स्पेशल ब्रांच की टीम ने कलियर से एक संदिग्ध अफगानी नागरिक को गिरफ्तार कर लिया। यह अफगानी तीन महीने यहां का नागरिक बनकर रह रहा था। अफगानी के खिलाफ विदेशी अधिनियम में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

कार को बचाने के चक्कर में खाई में पलटी तीर्थ यात्रियों…

मोदी की सुरक्षा

बता दें भारत में आने से पहले वह बुल्गारिया, ग्रीस, साइप्रस व कई अन्य देशों में रहा है। उसे कई देशों की भाषा बोलनी आती है। थाना प्रभारी प्रमोद कुमार ने बताया कि अफगानिस्तानी नागरिक के खिलाफ विदेशी अधिनियम में मुकदमा दर्ज कर दिया गया है।

खबरों के मुताबिक़ बुधवार को कलियर क्षेत्र में एलआईयू व स्पेशल ब्रांच की टीम ने प्रधानमंत्री के उत्तराखंड दौरे को लेकर कलियर में संदिग्धों की तलाशी की साथ ही चेकिंग अभियान चला रही थी।

…तो ऐसे एटीएम से निकल गये लाखों और महिला को भनक…

चेकिंग के दौरान टीम को सूचना मिली की दरगाह क्षेत्र के साबरी बाग में एक विदेशी नागरिक है। टीम ने साबरी बाग में पहुंचकर विदेशी नागरिक से पूछताछ की तो उसने अपना नाम समीर उर्फ सेम निवासी गोवा बताया।

विदेशी नागरिक पासपोर्ट और कोई पहचान पत्र नहीं दिखा पाया। जिस कारण टीम युवक को थाने ले आई।

कड़ाई से पूछताछ करने पर युवक ने अपना नाम कतीलशफा पुत्र अब्बास निवासी सुरख रोड जिला जलालाबाद राज्य निंगरहार अफगानिस्तान बताया।

एसबी प्रभारी भूपेंद्र सिह मेहता और एलआईयू प्रभारी प्रदीप नेगी ने बताया कि अफगानिस्तानी नागरिक ने पूछताछ में बताया कि वह पहली बार कलियर आया है।

वह करीब तीन माह से दरगाह क्षेत्र में अपना नाम बदलकर रह रहा था और खुद को गोवा का रहने वाला नाम समीर बताता था। उसने बताया कि वह सात साल पहले भारत आया था।

उसने 2010 में साइप्रस देश में पंजाब के जालंधर निवासी एक युवती से शादी की थी। शादी करने बाद वह भारत आ गया।

2013-14 में उसकी पत्नी से लड़ाई हो गई और वह बेटी को लेकर इटली चली गई। उसी अफगानिस्तानी नागरिक का वीजा समाप्त हो गया। उसके बाद वह पंजाब, गोवा, अजमेर व महारष्ट्र में रहा।

loading...
शेयर करें