यूपी चुनाव से पहले पेट्रेल-डीजल की कीमतों में मिल सकती है बड़ी राहत, बनाया ये प्लान

लखनऊ: देश में पेट्रेल-डीजल की बढ़ती कीमतों से लोगो को बड़ी मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है, वहीं इसी बीच राहत भरी खबर आ रही है कि इन परेशानियों को देखते हुए 17 सितंबर को लखनऊ में जीएसटी काउंसिल की 45वीं बैठक होने वाली हैं। अनुमान लगाया जा रहा है कि 17 सितंबर को होने वाली बैठकों के बाद से पेट्रोल डीजल की कीमतों में गिरावट आ सकती है।

शुक्रवार को होने वाली बैठक की अध्यक्षता केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण करेंगी। अनुमान लगाया जा रहा है कि इस बैठक में पेट्रोलियम उत्पादों को जीएसटी के दायरे में लाने पर चर्चा हो सकती है। इसके अलावा इस बात पर शंका करने में हर्ज नहीं है कि यूपी विधानसभा चुनाव 2022 नजदीक आ चुका है और चुनाव जीतने के लिए यह उम्मीद की जा सकती है कि पेट्रोल-डीजल की कीमतें शायद कुछ कम हो जाएं।

हाईकोर्ट ने भी दिया था निर्देश

आपको बता दें कि केरल हाईकोर्ट ने पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने के निर्देश दिए थे। लखनऊ में होने वाली 45वीं जीएसटी काउंसिल की बैठक में पेट्रोल, डीजल को (जीएसटी) के दायरे में लाने पर विचार कर सकते है। एक देश और एक दर के तहत पेट्रोलियम उत्पादों पर कर लगाने पर चर्चा होगी।

अगर GST काउंसिल में प्रस्ताव आया तो वह पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने पर चर्चा करने को तैयार हैं। कई जानकारों के मुताबिक, अगर जीएसटी काउंसिल में इस पर सहमति होती है तो पेट्रोल एक झटके में घटकर 60 रुपए लीटर से नीचे आ सकता है।

Related Articles