बंगाल: नंदीग्राम से हारने के बाद इस सीट से चुनाव लड़ सकती हैं Mamta Banerjee

कोलकाता: West Bengal में हाल ही में हुए असेंबली इलेक्शन में तृणमूल कांग्रेस ने जबरदस्त जीत दर्ज की थी. विधानसभा चुनावों में जीत दर्ज कर Mamta Banerjee लगातार तीसरी बार मुख्यमंत्री बनीं. TMC ने ना सिर्फ भारतीय जनता पार्टी को कड़ी शिकस्त दी बल्कि मोदी-शाह की जोड़ी को बता दिया कि बंगाल फतह का सपना अभी पूरा नहीं हो सकता है. हालांकि इस चुनाव में मुख्यमंत्री Mamta Banerjee खुद अपनी सीट से चुनाव हार गईं. नंदीग्राम से बीजेपी नेता शुभेंदू अधिकारी ने ममता को मात दे दिया.

बता दें Mamta Banerjee भले ही बंगाल की मुखिया बन गई हों, लेकिन हार की टीस उन्हें चुभ रही है. इसीलिए पार्टी ने अब उन्हें अपनी सुरक्षित सीट से उतारने का फैसला लिया है. जानकारी के मुताबिक ममता अब Bhawanipore विधानसभा सीट से उपचुनाव लड़ेंगी और विधानसभा की सदस्यता हासिल करेंगी. बता दें अभी भवानीपुर क्षेत्र से TMC के नेता शोभनदेव चट्टोपाध्याय विधायक हैं. ममता सरकार में उन्हें कृषि मंत्री भी बनाया गया है. जानकारी के अनुसार शोभनदेव चट्टोपाध्याय विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा देंगे, ताकि इस सीट से Mamta Banerjee चुनाव लड़ सकें. वहीं पार्टी शोभनदेव चट्टोपाध्याय को इस त्याग का बड़ा इनाम देगी. पार्टी की ओर से उन्हें राज्यसभा में भेजे जाने की संभावना है.

बता दें कि खुद Mamta Banerjee भवानीपुर सीट से दो बार MLA रह चुकी हैं. साल 2011 और 2016 में से चुनाव जीत गई थीं. इस बार उन्होंने नंदीग्राम से चुनाव लड़ना स्वीकार किया था. विधानसभा इलेक्शन से ठीक पूर्व शुभेंदु अधिकारी ने TMC को छोड़कर बह्ज्पा ज्वॉइन की थी और नंदीग्राम से ममता बनर्जी के खिलाफ चुनाव लड़ा. इस चुनाव में उन्होंने ममता को 1953 वोटों से हराया. इससे पहले साल 2016 के चुनावों में शुभेंदु अधिकारी ने इस सीट पर लेफ्ट के उम्मीदवार को बड़े अंतर से हराया था.

ये भी पढ़ें : बनारस के फ्रंट लाइन वर्कर्स को PM मोदी ने दिया नया मंत्र, बोले- जहां बीमार वहीं उपचार

Related Articles