बेनीवाल ने लोकसभा अध्यक्ष को भेजा त्यागपत्र, किसानों के समर्थन में दिल्ली करेंगे कूच 

हनुमान बेनीवाल ने केन्द्र सरकार से तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग करते हुये आज संसद की तीन समितियों की सदस्यता से त्यागपत्र देनेे की घोषणा की।

जयपुर: केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार को समर्थन दे रही राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (रालोपा) के अध्यक्ष हनुमान बेनीवाल ने केन्द्र सरकार से तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग करते हुये आज संसद की तीन समितियों की सदस्यता से त्यागपत्र देनेे की घोषणा की। हनुमान बेनीवाल ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को अपना इस्तीफा पत्र भेजा है।

त्यागपत्र

बेनीवाल ने शनिवार को यहां आयोजित रालोपा की बैठक के बाद वह कृषि कानून के विरोध में धरने पर बैठे किसानों का साथ देने के लिए आगामी 26 दिसंबर को दो लाख समर्थकों के साथ दिल्ली कूच करने का ऐलान किया है। साथ ही कहा कि एनडीए में रहने को लेकर भी उसी दिन फैसला किया जायेगा। बेनीवाल ने किसान आंदोलन के समर्थन और लोकहित के मुद्दों को लेकर संसद की तीन समितियों के सदस्य पद से शनिवार को त्यागपत्र दे दिया है।

ये भी पढ़ें : बीजेपी से मुकाबले के लिए सोनिया गांधी की ये खास रणनीति

बेनीवाल ने अपने त्याग पत्र में कहा है कि संसद में मुझे उद्योग संबंधी स्थाई समिति, याचिका समिति और पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय की परामर्शदात्रि समिति का सदस्य बनाया गया है। उन्होंने किसान आंदोलन का समर्थन में कहा संसदीय समिति द्वारा दखलंदाजी किये जाने के बावजूद कार्यवाही नहीं होना कारण बताया है। बैठक में बेनीवाल ने कहा कि उनकी संजीवनी किसानों के काम आयेगी और रालोपा का आधार किसान ही है और पार्टी किसानों के साथ हमेशा से खड़ी है और आगे भी रहेगी।

Related Articles

Back to top button