बेस्ट स्टेट कैटिगरी में बेस्ट इनलैण्ड स्टेट का देश में मिला प्रथम पुरस्कार

विश्व मात्स्यिकी दिवस के अवसर पर उत्तर प्रदेश के मत्स्य विभाग को बेस्ट स्टेट कैटिगरी में ‘‘बेस्ट इनलैण्ड स्टेट‘‘ का देश में प्रथम पुरस्कार मिला है।

लखनऊ: विश्व मात्स्यिकी दिवस‘‘ के अवसर पर उत्तर प्रदेश के मत्स्य विभाग को बेस्ट स्टेट कैटिगरी में ‘‘बेस्ट इनलैण्ड स्टेट‘‘ का देश में प्रथम पुरस्कार मिला है। राज्य के मत्स्य विकास मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी ने यह पुरस्कार भारत सरकार के मत्स्य पालन, पशुपालन और डेयरी मंत्रालय, एवं राष्ट्रीय मात्स्यिकी विकास बोर्ड, हैदराबाद के तत्वावधान में एपी शिंदे सिम्पोसियम हाॅल, एनएएससी काॅम्प्लेक्स, पूसा, नई दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में भारत सरकार के मत्स्य पालन, पशुपालन एवं डेयरी राज्यमंत्री प्रताप चन्द्र सारंगी द्वारा ग्रहण किया।

उत्तर प्रदेश को मत्स्य उत्पादकता एवं उत्पादन में वृद्धि के दृष्टिगत बेस्ट स्टेट कैटिगरी में बेस्ट इनलैण्ड स्टेट की श्रेणी में प्रथम पुरस्कार के रूप में 10 लाख रूपये, प्रतीक चिन्ह एवं प्रशस्ति पत्र प्राप्त हुए है। इस अवसर पर उत्तर प्रदेश के पशुधन, मत्स्य विकास एवं दुग्ध विकास मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी द्वारा प्रदेश में एफएफपीओ के गठन, प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना के तहत संचालित किये जाने वाले कार्यक्रमों के लिए अधिक से अधिक केन्द्रीय सहायता उपलब्ध कराये जाने पर बल दिया गया। उन्होनें प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि राज्य सरकार उत्तर प्रदेश को मत्स्य उत्पादन के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाने और मछुआ समुदाय के उत्थान के लिए दृढ़संकल्पित और निरन्तर प्रयत्नशील है।

ये भी पढ़े : पीएजीडी के उम्मीदवार चुनाव प्रचार से कर रहे परहेज: अब्दुल्ला

मत्स्य विकास के क्षेत्र में राज्य सरकार की प्रभावी

उन्होनें कहा कि मत्स्य विकास के क्षेत्र में राज्य सरकार की प्रभावी व दूरदर्शी नीतियों का ही परिणाम है कि उत्तर प्रदेश को बेस्ट स्टेट कैटिगरी में बेस्ट इनलैण्ड स्टेट का देश में प्रथम पुरस्कार मिला है। कैबिनेट मंत्री ने इस अवसर पर मत्स्य विभाग के कार्यो की सराहना करते हुए कहा कि विभाग द्वारा अधिक से अधिक लाभार्थियों को मछुआ आवास योजना, मछुआ दुर्घटना बीमा योजना, किसान क्रेडिट कार्ड आदि विभिन्न लाभकारी योजनाओं का लाभ दिया जा रहा है। साथ ही मात्स्यिकी के क्षेत्र की नवीनतम जानकारी भी दी जा रही है।

ये भी पढ़े : श्रीलंका क्रिकेट एलपीएल में भ्रष्टाचार रोकने के लिए सख्त

मत्स्य विभाग मत्स्य पालकों को स्वरोजगाार प्रदान करते हुए

उन्होंनें बताया कि उत्तर प्रदेश का मत्स्य विभाग मत्स्य पालकों को स्वरोजगाार प्रदान करते हुए उनका आर्थिक स्वावलम्बन, ग्रामीण व्यवस्था का सुदृढ़ीकरण, किसानों की आय दोगुनी करने के लिए निरन्तर कार्य कर रहा है। पुरस्कार ग्रहण कार्यकम में मत्स्य विभाग के निदेशक एस के सिंह भी उपस्थित थे। उन्होंनें आभार व्यक्त करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में केन्द्र सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा ससंचालित सभी योजनाओं का सुनियोजित क्रियान्वयन किया जा रहा है।

Related Articles

Back to top button