नकली बैंकिंग ऐप्स से रहे सावधान, नही तो खाता हो जाएगा खाली, ऐसे करें पहचान

नई दिल्ली: Digital India के समय में लोग बैंकों से जुड़े ज्यादातर काम घर बैठे अपने स्मार्टफोन से ही करते हैं। इससे बैंक जाने के समय की भी बचत होती है और सारा काम हो जाता है। हालांकि जब से ऑनलाइन बैंकिंग की सुविधा बढ़ी है, साइबर क्राइम के मामले भी लगातार बढ़ते जा रहे हैं। इसका मुख्य कारण यह है कि अभी भी बहुत से लोगों को साइबर अपराध के बारे में पर्याप्त जानकारी नहीं है और साइबर अपराधी लोगों को ऑनलाइन बैंक धोखाधड़ी का शिकार कैसे बनाते हैं।

आजकल फर्जी बैंकिंग ऐप भी फ्रॉड का एक जरिया बन गया है। जो चीज उन्हें खतरनाक बनाती है, वह यह है कि इन ऐप्स का इस्तेमाल करने वाले लोग भी इनकी पहचान नहीं कर पाते हैं। ये नकली बैंकिंग ऐप बिल्कुल असली बैंकिंग ऐप की तरह दिखते हैं और ऐसे में यूजर्स ठगे जाते हैं और नतीजा यह होता है कि अपराधी आपका बैंक अकाउंट खाली कर देते हैं। इसलिए फर्जी ऐप्स की पहचान करना बेहद जरूरी है ताकि आप फ्रॉड से बच सकें।

साइबर अपराधी फर्जी बैंकिंग ऐप के जरिए लोगों के गोपनीय डेटा या ऑनलाइन बैंकिंग आईडी-पासवर्ड आदि पर नजर रखते हैं और फिर बाद में आपके बैंक खाते में पड़े सारे पैसे निकाल लेते हैं।

बैंक खाते को कैसे सुरक्षित रखें

अपने मोबाइल में कभी भी किसी थर्ड पार्टी साइट से कोई ऐप इंस्टॉल न करें। अपने फोन में हमेशा प्ले स्टोर या ऐप स्टोर से वेरिफाइड ऐप्स रखें। इससे धोखाधड़ी की संभावना कम हो जाती है।

नकली बैंकिंग ऐप्स की कैसे करें पहचान

नकली बैंकिंग ऐप्स आपके मोबाइल फोन की बैटरी को बहुत जल्दी खत्म कर सकते हैं। तो अगर आपका मोबाइल फोन नया है लेकिन बैटरी कम समय में बार-बार कम हो जाती है, तो यह मोबाइल में मैलवेयर या वायरस का संकेत हो सकता है।

ऐप के स्पेलिंग पर ध्यान दें

किसी भी ऐप को डाउनलोड करते समय उसके नाम की स्पेलिंग पर ध्यान दें। अगर इसमें कुछ गलत हो जाता है, तो इसे बिल्कुल भी डाउनलोड न करें। अगर ऐप के नाम पर एक भी कैरेक्टर की स्पेलिंग गलत है तो समझ लीजिए कि यह एक फेक ऐप है। यह ऐप आपको धोखा दे सकता है, यानी यह आपके बैंक खाते को खाली कर सकता है।

ऐप डाउनलोड करते समय इस बात का भी ध्यान रखें कि वह ऐप कितनी बार डाउनलोड किया गया है। दरअसल, अगर आपको एक ही नाम से कई ऐप्स दिखाई दें तो उनके डाउनलोड पर एक नजर जरूर डालें क्योंकि इससे असली और नकली की पहचान भी हो सकती है।

Related Articles