सोने के तारों से कढ़ी पोशाक पहन रथ पर सवार होंगे श्री जगन्नाथजी

0

आगरा। खुशी का प्रतीक लाल रंग का रेशम का सौम्य परिधान। उस पर स्वर्ण के महीन तारों की कढ़ाई व 7 रत्नों के प्रतीक अलग-अलग रंग के नगों की काशीदाकारी। लगभग सवा महीने में दर्जन भर कारीगरों की कड़ी मेहनत के बाद कुछ इसी तरह के आकर्षक रंग रूप में नजर आएगी भगवान श्री जगन्नाथ जी की पोशाक।

26 को निकलेगी जगन्‍नाथ रथयात्रा

जगतपिता श्री जगन्नाथ जी इस बार 26 अगस्त को आयोजित होने जा रही श्री जगन्नाथ रथयात्रा में सुर्ख लाल रंग (प्रसन्नता का प्रतीक) की पोशाक में सजे संवरे नजर आएंगे।

पोशाक बनाने में लगा सवा महीना

संजय प्लेस स्थित श्री जगन्नाथ रथयात्रा महोत्सव समिति के कार्यालय पर आयोजित कार्यक्रम में हीरेन अग्रवाल ने बताया कि कलकत्ता में लगभग एक दर्जन कारीगरों द्वारा पोशाक को तैयार करने में सवा महीने का समय लगा है। पोशाक में स्वर्ण तारों से बेहद महीन और आकर्षक कढ़ाई की गई है। साथ ही सात प्रकार से नगों (राशि के अनुसार) का प्रयोग किया गया है।

सुभद्रा और बलभद्र भी होंगे विराजमान

26 अगस्त को श्रीमनःकामेश्वर मंदिर से प्रारम्भ होने वाली रथयात्रा में श्रीजगन्नाथ जी सुभद्रा व बलदाई संग विराजमान होंगे। हजारों श्रद्धालु रस्सी से भगवान जगन्नाथ जी का रथ खींचकर संजय प्लेस तक लेकर पहुंचेंगे। जहां शाम के समय सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। इस अवसर पर समिति के सदस्यों में शैलेश बंसल, अनूप अग्रवाल, दिनेश अग्रवाल, विभू सिंघल, अतुल अग्रवाल, शिवम सिंघल आदि मौजूद थे।

loading...
शेयर करें