बीजेपी नेता की हत्या, कटघरे में नीतीश सरकार

0

गोपालगंज। बिहार में अभी भी हत्या करने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। एक तरफ जहां नीतीश सरकार अपने कानून व्यवस्था का तारीफ कर है तो, वहीं दूसरी तरफ बिहार में हो रहे आए दिन हत्या पर सरकार पर अब सवाल उठने लगा है। जी हां बिहार में मुख्य विपक्षी पार्टी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता कृष्णा शाही का शव बुधवार को दोपहर गोपालगंज जिले के फुलवरिया थाना के मांझा गांव के एक कुएं से बरामद किया गया है। शाही की हत्या कर शव कुएं में फेंक देने की आशंका जताई जा रही है। पुलिस के अनुसार, गोपालगंज जिले के हथुआ थाना के चैनपुर गांव निवासी और भाजपा व्यावसायिक प्रकोष्ठ के प्रदेश प्रभारी कृष्णा शाही मंगलवार की रात मांझा गांव निवासी लालबाबू राय के श्राद्धकर्म में भाग लेने वहां गए हुए थे। इसके बाद वे घर नहीं लौटे।

भारतीय जनता पार्टी

चैनपुर पंचायत की मुखिया शांता शाही के पति शाही के लापता होने की सूचना पुलिस को बुधवार सुबह दी गई। पुलिस ने जब खोजबीन प्रारंभ की तब उनका शव मांझा गांव के ही एक कुएं से बरामद किया गया है। शव बरामदगी के बाद क्षेत्र में आक्रोश व्याप्त है।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, शाही मांझा गांव में ही एक व्यक्ति के घर में रात को ठहर गए थे। पुलिस ने आशंका जताई है कि शाही की हत्या जहरीला पदार्थ खिलाकर की गई है और हत्या के बाद कुएं में शव फेंका गया है।

हथुआ के पुलिस उपाधीक्षक मोहम्मद इम्तयाज ने बताया कि शव मिलने की सूचना मिलने के साथ ही पुलिस मौके पर पहुंची है और फिलहाल गांव में ही कैंप कर रही है। मामले की जांच के लिए पुलिस की दो अलग-अलग टीम गठित कर दी गई है। उन्होंने कहा कि इस मामले में दो-तीन लोगों को हिरासत में लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है। पुलिस उपाधीक्षक ने दावा किया कि जल्द ही इस मामले में संलिप्त लोगों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

loading...
शेयर करें