नहीं रहे दक्षिण की राजनीति के भीष्म पितामह, राजनीतिक गलियारों में छाई शोक की लहर

0

नई दिल्ली। तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री और द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (द्रमुक) के नेता एम. करुणानिधि का निधन हो गया। करुणानिधि ने चेन्नई के कावेरी अस्पताल में आखिरी सांस ली। इससे पहले डीएमके कार्यकारी अध्यक्ष एम के स्टालिन और उनके बड़े भाई अलागिरी ने तमिलनाडु के सीएम पलानीस्वामी से मुलाकात की है।

कावेरी अस्पताल की ओर से 6:40 बजे जारी किए गए प्रेस रिलीज के अनुसार, करुणानिधि ने 6:10 बजे अंतिम सांस ली।

अस्पताल के बयान अनुसार, “डॉक्टरों के एक समूह और नर्सों द्वारा पूरे प्रयास करने के बाद भी उन्हें बचाया नहीं जा सका।” करुणानिधि (94) को 28 जुलाई को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। सोमवार को उनकी हालत गंभीर हो गई थी।

राजधानी चेन्नई में भारी संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया है। राजारथिनम स्टेडियम में सुरक्षा बल के 500 और तमिलनाडु स्पेशल फोर्स के 700 जवानों को तैनात किया गया है।

इसी के साथ पीएम मोदी ने करुणानिधि के निधन पर दुख जताया है। पीएम ने कहा, ‘करुणानिधि के निधन से दुखी हूं। वह भारत के वरिष्ठतम नेता थे।’

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने करुणानिधि के निधन पर कहा, ”एम करुणानिधि के निधन के बारे में सुनकर दुख हुआ। “कलैनार” के नाम से लोकप्रिय वह एक सुदृढ़ विरासत छोड़ कर जा रहे हैं जिसकी बराबरी सार्वजनिक जीवन में कम मिलती है। उनके परिवार के प्रति और लाखों चाहने वालों के प्रति मैं अपनी शोक संवेदना व्यक्त करता हूँ।’

loading...
शेयर करें