‘जनता को भाजपा की कुनीतियों के बारे में जानकारी देने के लिए निकलेगी साईकिल यात्रा’

किसानों की आय बढ़ाओं और खेती-किसानी बचाओं‘ की मांग को लेकर सपा सात दिसम्बर से सूबे के सभी जिलों में किसान यात्राओं का आयोजन कर रही है।

लखनऊ: भाजपा द्वारा लाये गए कृषि कानून के विरोध में आठ दिसम्बर को भारत बंद के किसानों के फैसले का समर्थन करते हुये समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सोमवार से शुरू होने वाली पार्टी की ‘किसान यात्रा’ में शामिल होने का ऐलान किया है।

कन्नौज जिले में किसान यात्रा में शामिल होंगे अखिलेश यादव

पार्टी प्रवक्ता ने बताया कि किसानों की आय बढ़ाओं और खेती-किसानी बचाओं‘ की मांग को लेकर सपा सात दिसम्बर से सूबे के सभी जिलों में किसान यात्राओं का आयोजन कर रही है। पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव स्वयं कन्नौज जिले में इस किसान यात्रा में शामिल होंगे। यात्रा में हर जिले के कोने-कोने से साइकिल सवार नौजवान किसान विरोधी सरकार के खिलाफ निकलेंगे और जनता को भाजपा की कुनीतियों के बारे में जानकारी देंगे। अखिलेश यादव कन्नौज की ठठिया मंडी से तिर्वा के किसान बाजार तक 13 किमी की यात्रा ट्रैक्टर से करेंगे।

‘किसानों के संघर्ष में उनके साथ है सपा’

प्रवक्ता ने बताया कि ठठिया में 60 एकड़ में आलू की मंडी समाजवादी सरकार के समय में बनायी थी जिसे भाजपा सरकार ने रोक दिया। अखिलेश का किसान यात्रा में शामिल होना इस बात का सूचक है कि समाजवादी पार्टी किसानों के संघर्ष में उनके साथ है और वह किसानों की मांगों का समर्थन पूरे जोरशोर से करती है।

भाजपा राज में किसान हुआ अन्याय का शिकार

सपा मुखिया अखिलेश यादव ने कहा कि “भाजपा राज में किसान सबसे ज्यादा अन्याय का शिकार हुआ है। भाजपा मंडिया बेच रही है, किसानों को धान-मक्का का न्यूनतम समर्थन मूल्य भी नहीं मिल रहा है। कीट नाशक, खाद के दाम बढ़ गए हैं। किसानों से झूठे वादे किए गए है। अपनी मांगों को लेकर बैठे किसानों के प्रति भाजपा सरकार संवेदनशून्य रवैया दिखा रही है। किसान को लागत का ड्योढ़ा मूल्य देने और उसकी आय 2022 तक दुगनी करने के भी वादे किए गए थे लेकिन दूर-दूर तक वे पूरे होते नहीं दिखते हैं।”

बड़े व्यापारी अब अपनी शर्तों पर किसान की फसल खरीदेंगे: अखिलेश 

अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा सरकार ने साजिशन जो तीन कृषि विधेयक पास किया है, उससे खेती पर किसान का स्वामित्व खतरे में पड़ जाएगा। उन्हें कारपोरेट खेती के लिए मजबूर किया जाएगा। भाजपा सरकार ने इसी लिए कृषि विधेयक में जानबूझकर न्यूनतम समर्थन मूल्य और मंडियों की व्यवस्था का कोई प्रावधान नहीं रखा है। बड़े व्यापारी अब अपनी शर्तों पर किसान की फसल खरीदेंगे।

डाॅ स्वामीनाथन की रिपोर्ट लागू होनी चाहिए’

सपा अध्यक्ष ने कहा कि आठ दिसम्बर को किसानों के भारत बंद को समाजवादी पार्टी का पूरा समर्थन है। समाजवादी पार्टी किसानों के साथ है और उनके संघर्ष के प्रति उसकी पूरी प्रतिबद्धता है। किसानों के साथ लूट हो गई है। उनका धान नहीं खरीदा गया। मक्का नहीं खरीदा गया। मंहगाई लगातार बढ़ रही है। दुगनी आय और लागत से ड्योढ़ा कीमत देने की बात कर किसान को धोखा दिया गया है। अब उसकी जमीन छीनने की तैयारी है। पैदावार की लूट बचाने के लिए मंडिया होनी चाहिए। डाॅ स्वामीनाथन की रिपोर्ट लागू होनी चाहिए। समाजवादी पार्टी ने किसानों के हित में जो व्यवस्थाएं की थी, भाजपा सरकार ने उन्हें बर्बाद कर दिया।

भाजपा जीतने के लिए चुनावों में करती है धांधली

उन्होने शिक्षक और स्नातक चुनाव में समाजवादी पार्टी प्रत्याशियों की जीत पर बधाई देते हुए कहा कि अगर ईमानदारी से चुनाव हुआ होता तो समाजवादी पार्टी और सीटें जीतती। पूरा प्रशासन और पुलिस भाजपा को जिताने में लगी थी। भाजपा प्रत्याशियों को जिताने के लिए हजारों वोट रद्द किए गए। भाजपा चुनाव में धांधली करती है। बैलेट ने इवीएम को वाराणसी में हरा दिया।

ये भी पढ़ें: आंध्र प्रदेश में चिंताजनक स्थिति, अचानक बीमार हुए 250 से ज्यादा लोग

Related Articles

Back to top button