Action में बाइडेन, कामों की योजना का ‘मास्टरप्लान’ जारी

अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन शपथ ग्रहण के बाद अपने कार्यकाल के पहले 10 दिनों में किए जाने वाले कामों की योजना जारी की

न्यूयॉर्क: अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन (Joe Biden) शपथ ग्रहण के बाद अपने कार्यकाल के पहले 10 दिनों में जो काम करेंगे उसके मास्टरप्लान की घोषणा हो चुकी है। उन्होंने कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई, अर्थव्यवस्था और आव्रजन पर ध्यान केंद्रित किया है।

ट्रंप के उठाए गए कदमों पर रोक

उनके चीफ ऑफ स्टाफ रॉन क्लैन ने वरिष्ठ कर्मचारियों को एक ज्ञापन भेजा जिसमें कई क्षेत्रों में निर्वतमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के उठाए गए कदमों पर रोक लगाने, योजना का विवरण आदि शामिल है। इसे रविवार को मीडिया के लिए ट्रांजिशन कार्यालय द्वारा जारी किया गया।

क्लैन ने लिखा, “निर्वाचित राष्ट्रपति बाइडेन एक्शन लेंगे, न केवल ट्रंप प्रशासन से हुए सबसे बड़े नुकसान को उलटने के लिए, बल्कि हमारे देश को आगे बढ़ाने के लिए भी।” आव्रजन मोर्चे पर, ज्ञापन ने कहा कि बुधवार को अपने कार्यालय के पहले बाइडेन एक आव्रजन बिल भेजेंगे। इसने विवरण नहीं दिया, लेकिन कहा कि बाइडेन प्रणाली को ‘सम्मानपूर्वक बहाल करने के अपने वादे’ को पूरा करेंगे।

कांग्रेस के साथ वीजा प्रणाली

अपने प्लेटफॉर्म में, बाइडेन ने कहा कि वह कांग्रेस के साथ वीजा प्रणाली, एच 1-बी वीजा में सुधार करने के लिए काम करेंगे, ताकि वीजा पर रहने वालों को नौकरी स्विच करने की अनुमति मिल सके। 1.1 करोड़ अवैध प्रवासियों को वैध बनाने का एक और वादा किया गया था, उनके घोषणापत्र के अनुसार, इनमें से 500,000 भारतीय हैं।

यह भी पढ़ेकार्बन मोनोऑक्साइड (CO) के रिसाव से 5 लोगों की दर्दनाक मौत

क्लेन ने कहा कि बाइडेन कार्यान्वयन में तेजी लाते हुए दर्जनों कार्यकारी आदेश, राष्ट्रपति के ज्ञापन और कैबिनेट एजेंसियों को निर्देश के माध्यम से अभियान के वादों को पूरा करने की कोशिश की। डेमोक्रेट्स ने कांग्रेस से बचने के लिए कार्यकारी आदेशों का सहारा लेने के लिए ट्रंप की आलोचना की थी और इस बात को ध्यान में रखते हुए, क्लैन ने कहा कि बाइडेन की कार्रवाई अच्छी तरह से स्थापित कानूनी सिद्धांत पर आधारित होगी।

उन्होंने कहा कि बाइडेन पदभार ग्रहण करने के बाद पेरिस जलवायु समझौते में शामिल होने पर फिर से चर्चा करेंगे जिससे ट्रंप प्रशसान ने अमेरिका को अलग कर लिया था। उग्र कोरोनोवायरस महामारी से लड़ने के लिए, बाइडेन विमानों, ट्रेनों और बसों में मास्क पहनना अनिवार्य कर देंगे।

यह भी पढ़ेकिसान आंदोलन: ठंड से मर रहें किसान, सरकार कर रही बैठक पर बैठक, नहीं मिल रहा समाधान

Related Articles