बाइडेन बोले, जेल से निकले आतंकी कर सकते हैं हमला, देंगे कड़ा जवाब

अफगानिस्तान संकट पर अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा कि हमने एयरपोर्ट (काबुल में) को सुरक्षित किया है जिससे न केवल सैन्य उड़ानें बल्कि अन्य देशों के नागरिक और संकट में फंसे अफगानियों को बाहर निकालने के लिए गैर सरकारी संगठन फिर से उड़ानें शुरू करने के लिए सक्षम हो रही

अमेरिका: अफगानिस्तान संकट पर अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा कि हमने एयरपोर्ट (काबुल में) को सुरक्षित किया है जिससे न केवल सैन्य उड़ानें बल्कि अन्य देशों के नागरिक और संकट में फंसे अफगानियों को बाहर निकालने के लिए गैर सरकारी संगठन फिर से उड़ानें शुरू करने के लिए सक्षम हो रही  और अफगानिस्तान से लोगों को निकाला जा रहा है।  अब तक 18 हजार से ज्यादा अमेरिकी लोगों को रेस्क्यू किया जा चुका है।

अफगानिस्तान में खतरे की घंटी, जानिए क्या कहा राष्ट्रपति जो बाइडेन

 राष्ट्रपति बाइडेन ने कहा कि यह निकासी मिशन खतरनाक है, इसमें सशस्त्र बलों के लिए जोखिम शामिल है और इसे बेहद कठिन परिस्थितियों में संचालित किया जा रहा है।  मैं वादा नहीं कर सकता कि अंतिम परिणाम क्या होगा, लेकिन यह नुकसान के जोखिम के बिना होगा। अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन ने कहा कि अफगानिस्तान पर इस वक्त संकट बड़ा है।  हमने 20 साल तक अफगानिस्तान के साथ मिलकर काम किया और  हमने गंभीरता के साथ काम किया।

 

बाइ़डेन ने कहा अफगानिस्तान में हमारा काम पूरा हुआ

 

उन्होंने  ने कहा कि नाटो के देश अमेरिका के साथ खड़े हैं।  नाटो के देश अमेरिका के फैसले पर सहमत हैं, अफगानिस्तान में हमारा काम पूरा हो गया है, हमने गंभीरता से अपने काम को अंजाम दिया और अब  अफगानिस्तान से अब युद्ध खत्म करने का वक्त आ गया है। अफगान महिलाओं के बारे में उन्होंने कहा कि दुनियाभर के लोग महिलाओं के लिए दुआ करें।  आईएसआईएस आतंकियों का जिक्र करते हुए राष्ट्रपति बाइडेन ने कहा कि तालिबान के लिए अफगानिस्तान में हालात ज्यादा मुश्किल हैं,  आईएसआईएस के आतंकवादी ज्यादा खतरनाक हैं, अन्य आतंकी संगठन बड़ा खतरा बन सकते हैं। उन्होंने कहा कि अफगान संकट पर अगले हफ्ते जी-7 पर बैठक बुलाने पर सहमति जताई है. हमारी ब्रिटेन, फ्रांस और जर्मनी से बातचीत हुई है।

Related Articles