बाइडेन का बयान चीन के खिलाफ, चीनी राष्ट्रपति को बनाया निशाना

जो बाइडेन ने इतना जरुर कहा कि चीन के साथ अमेरिका की प्रतिद्वंद्विता दो वैश्विक शक्तियों के बीच संघर्ष के बजाए प्रतिस्पर्धा का रूप लेगी।

नई दिल्ली: अमेरिका और चीन में चल रहें तनाव के बीच एक बार फिर से अमेरिका ने यह साफ कर दिया कि चीन को लेकर उसका रुख बदलने वाला नही है। जबकि जो बाइडेन ने इतना जरुर कहा कि चीन के साथ अमेरिका की प्रतिद्वंद्विता दो वैश्विक शक्तियों के बीच संघर्ष के बजाए प्रतिस्पर्धा का रूप लेगी।

इससे पहले अमेरिकी विदेश मंत्री ने भी बयान दिया था कि चीन की विस्तारवादी आदतों का अमेरिका हमेशा विरोध करेगा।

बाइडेन ने कहा 

जो बाइडेन ने CBS  को एक इंटरव्यू देने के दौरान कहा कि चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ( Xi Jinping ) को लेकर कहा कि कि उन्होंने राष्ट्रपति पद संभालने के बाद से अब तक जिनपिंग से बात नहीं की है। उन्होंने आगे कहा, ‘वह बहुत कठोर व्यक्ति हैं। उनमें लोकतंत्र की समझ नहीं है। एक लोकतांत्रिक देश का नेतृत्व करने के लिए जो गुण होने चाहिए, वह जिनपिंग में नहीं हैं’।

बाइडेन
बाइडेन

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा कि ‘मुझे नहीं लगता कि मैं उनकी कोई आलोचना कर रहा हूं, मैं वही कह रहा हूं जो सही है. शी जिनपिंग की बॉडी में एक लोकतांत्रिक, छोटी D, हड्डी नहीं है’।

चीन का कोई प्रतिक्रिया नहीं

आपको बता दे कि बाइडेन के इस बयान पर चीन की तरफ से अभी तक कोई प्रतिक्रिया नही आई है लेकिन ये भी कहा जा रहा कि जिनपिंग  को इतनी अचछी तारीफ पसंद नही आएगी।

अमेरिका की समुद्री गतिविधियों की वजह से चीन पहले से नराज चल रहा था ऐसे में बाइडेन का जिनपिंग को निशाना बनाने से दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ने की संभावना है।

यह भी पढ़े:पाकिस्तान ने दक्षिण अफ्रीका को अपने घरेलू मैदान में किया क्लीन स्वीप

Related Articles

Back to top button