बड़ी कार्रवाई : BJP विधायक के भाई समेत 11 नेता पार्टी से बाहर, जानिए मामला

भदोही: उत्तर प्रदेश के भदोही में पंचायत चुनाव में BJP के प्रत्याशी के खिलाफ नामांकन पत्र भरने और उसके दफ्तर पर जबरन कबजा करने के आरोप में BJP विधायक समेत 11 लोगों को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है। मामला BJP विधायक रविंद्र नाथ त्रिपाठी के भाई और भतीजे समेत कुल 11 कार्यकर्ताओं से जुड़ा है। इनपर भाजपा के अधिकृत किये प्रत्याशी के दफ्तर पर कब्ज़ा करने और उसके खिलाफ नामांकन दाखिल करने का मामला था।

BJP विधायक रविंद्र नाथ त्रिपाठी के सगे भाई

भारतीय जनता पार्टी के भदोही के डिस्ट्रिक्ट प्रेसिडेंट विनय श्रीवास्तव ने बताया कि, ‘‘पार्टी हमेशा भाई-भतीजावाद से परहेज करती रही है। भदोही शहर सीट से भाजपा विधायक रविंद्र नाथ त्रिपाठी के सगे भाई अनिरुद्ध त्रिपाठी, भतीजे सचिन त्रिपाठी और चंद्रकांत त्रिपाठी जिला पंचायत के विभिन्न वर्गों से टिकट मांग रहे थे। मना करने के बावजूद इन तीनों ने वार्ड संख्या सात, आठ और नौ पर पार्टी के अधिकृत प्रत्याशियों के खिलाफ पर्चा भरा और लगातार पार्टी के उम्मीदवारों की जमानत जब्त होने का प्रचार किया।’’

बीजेपी उम्मीदवार के कार्यालय पर समर्थकों के साथ मारपीट

बीजेपी जिलाध्यक्ष ने कहा कि MLA रविंद्र नाथ त्रिपाठी के परिवार के लोगों ने कहा कि अगर सिर्फ वार्ड नंबर 8 पर चंद्रकांत को अधिकृत कर दिया जाए तो परिवार मान जाएगा। जिला अध्यक्ष ने बताया कि अभी यह बात प्रदेश स्तर पर चल रही थी कि इसी बीच रविवार दोपहर चंद्रकांत त्रिपाठी ने यह घोषित कर दिया की भाजपा ने उन्हें टिकट दे दिया है और इसके बाद वार्ड नंबर आठ के अधिकृत BJP उम्मीदवार गौरी शंकर मिश्रा के कार्यालय पर समर्थकों के साथ ज़बरदस्ती उनके समर्थकों को मारपीट कर कब्ज़ा कर लिया।

विनय श्रीवास्तव ने बताया कि भारतीय जनता पार्टी ने इसे गंभीर मानते हुए MLA के भाई अनिरुद्ध, भतीजे चंद्रकांत और सचिन त्रिपाठी सहित कुल 11 लोगों को भारतीय जनता पार्टी से 6 साल के लिए निकाल दिया है।

ये भी पढ़ें : West Bengal Election: ‘4 चरण के चुनावों में 92 से ज्यादा सीटों पर आगे BJP’

 

Related Articles