सीएम योगी की नाराज़गी से पुलिस विभाग पर गिरी गाज, इन दो एसपी को किया सस्पेंड

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देशानार संभल के एसपी राधे मोहन भारद्वाज और प्रतापगढ़ के एसपी संतोष कुमार सिंह-1 को सस्पेंड कर यमुना प्रसाद व देव रंजन वर्मा को संभल और प्रतापगढ़ का नया एसपी नियुक्त किया गया है। दो पुलिस कप्तानों पर हुई इस कार्रवाई से पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया है।

 

संभल में एक महिला को सामूहिक रेप के बाद जिंदा जला देने तथा प्रतापगढ़ में एक किशोरी की मौत के मामले में पुलिस पर लापरवाही बरतने का आरोप है।

संभल जिले में कथित तौर पर पांच लोगो पर सामूहिक बलात्कार के बाद एक महिला को एक मंदिर परिसर में जिंदा जला देने का मामला सामने आया था। जिले के रजपुरा थाना क्षेत्र के एक व्यक्ति ने तहरीर देकर आरोप लगाया कि शनिवार सुबह आराम सिंह नाम का एक व्यक्ति पांच लोगों के साथ घर में घुसकर तमंचे से बल पर उसकी पत्नी से रेप किया।

उसने बताया कि वह गाजियाबाद में रहकर मजदूरी करता है, जबकि उसकी पत्नी अपनी सात वर्षीय बेटी के साथ रजपुरा थाना क्षेत्र स्थित गांव में रहती थी। वारदात के बाद आरोपी किसी को ना बताने की धमकी देकर चले गए। उसके बाद उसकी पत्नी ने अपने ममेरे भाई को इस घटना के बारे में जानकारी दी। कुछ देर बाद आरोपी फिर उसके घर आ गए और पास में बने मंदिर परिसर स्थित झोपड़ी में ले जाकर उसे जिन्दा फूंक दिया।

इस मामले में एडीजी प्रेम प्रकाश ने चौकी प्रभारी और दो सिपाहियों को निलंबित कर दिया था। पुलिस ने लापरवाही बरतते हुए पोस्टमार्ट कराए बिना ही कह दिया था कि गैंगरेप हुआ ही नहीं। हालात को सामान्य करने के लिए एडीजी को स्वयं गांव में डेरा डालना पड़ा। पुलिस ने इस मामले में सोमवार को तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

Related Articles