Citi Bank का बड़ा ऐलान, भारत से बोरिया बिस्तर समेटने की तैयारी, जानिए कर्मचारियों और खाताधारकों का क्या होगा?

दुनिया की दिग्गज बैंकिंग कंपनियों में शुमार Citibank अब भारत में अपना कारोबार समेटने की तैयारी में है। अमेरिका के बैंक Citibank ने गुरुवार को भारत में कंज्यूमर बैंकिंग (Consumer Banking) बिजनेस से बाहर निकलने का ऐलान किया है।

नई दिल्ली: दुनिया की दिग्गज बैंकिंग कंपनियों में शुमार Citibank अब भारत में अपना कारोबार समेटने की तैयारी में है। अमेरिका के बैंक Citibank ने गुरुवार को भारत में कंज्यूमर बैंकिंग (Consumer Banking) बिजनेस से बाहर निकलने का ऐलान किया है। सिटीग्रुप ने बड़ा ऐलान करते हुआ कहा कि ग्रुप अब भारत समेत 13 इंटरनेशनल कंज्यूमर बैंकिंग मार्केट से बाहर निकलेगा। खासकर जहां इसका बिजनेस छोटे स्तर पर है।

Bank का कहना

सिटीग्रुप अब वेल्थ मैनेजमेंट कारोबार पर फोकस करने की तैयारी में है। बता दें कि भारत में सिटीग्रुप की एंट्री 1902 में हुई थी और इसने कंज्यूमर बैंकिंग कारोबार 1985 में शुरू किया था। बैंक का कहना है कि यह उसकी ग्लोबल स्ट्रैटजी का हिस्सा है। बैंक के कंज्यूमर बैंकिंग बिजनस में क्रेडिट कार्ड्स, रीटेल बैंकिंग, होम लोन और वेल्थ मैनेजमेंट शामिल है। सिटीबैंक की देश में 35 शाखाएं हैं और उसके कंज्यूमर बैंकिंग बिजनस में करीब 4,000 लोग काम करते हैं।

सिटी इंडिया के CEO आशु खुल्लर ने कहा कि हमारे ऑपरेशंस में तत्काल कोई बदलाव नहीं आया है और इस घोषणा से हमारे साथियों पर तत्काल कोई असर भी नहीं होगा। हम अपने ग्राहकों की सेवा में कोई कमी नहीं रखेंगे। उन्होंने कहा कि इस घोषणा से बैंक की सेवाएं और मजबूत होंगी। संस्थागत बैंकिंग कारोबार के अलावा, सिटी अपने मुंबई, पुणे, बेंगलुरू, चेन्नई और गुरुग्राम केंद्रों से ग्लोबल कारोबार पर ध्यान देता रहेगा।

भारत के अलावा इन देशों में बिजनेस

सिटीबैंक (Citibank) अपनी नई बिजनेस स्ट्रैटजी के तहत भारत के अलावा ऑस्ट्रेलिया, इंडोनेशिया, बहरीन, चीन, साउथ कोरिया, मलेशिया, फिलीपींस, पोलैंड, रूस, ताइवान, थाईलैंड और वियतनाम में रिटेल बैंकिंग बिजनेस से बाहर हो जाएगा। लेकिन उसका होलसेल बिजनेस जारी रहेगा।

यह भी पढ़ें

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मुताबिक सिटीबैंक भारत में अपने रिटेल और कंज्यूमर बिजनेस को बेचने के लिए खरीदार की भी तलाश कर रहा

Related Articles

Back to top button