यूपी से बड़ी खबर: मुख़्तार अंसारी के दोनों बेटे इनामी अपराधी घोषित

लखनऊ: पंजाब की एक जेल में बंद मुख्तार अंसारी को यूपी सरकार किसी हाल में बक्शने के मूड में नहीं है। उनके दोनों बेटों को यूपी पुलिस ने इनामी अपराधी घोषित कर दिया है। दोनों पर 25-25 हज़ार का इनाम घोषित किया गया है। योगी सरकार प्रदेश के मफियायों और अपराधियों को सख्ती से निबटा रही है। अब मुख्तार अंसारी के साथ ही उनके दोनों बेटों के अपराधिक रिकॉर्ड पर उनपर शिकंजा कसा गया है।

राजधानी पुलिस ने मुख्तार के बी वारंट के साथ ही उनके बेटों के खिलाफ सरकारी जमीन जबरन हड़पने के मामले में इनामी घोषित किया है। इससे पहले मुख्तार अंसारी और उनकी पत्नी पर गैंगस्टर लगाया गया था।

हजरतगंज के डालीबाग में शत्रु संपत्ति (जमीन) पर जबरन कब्ज़ा और अवैध निर्माण करने के खिलाफ दर्ज मुक़दमे में मुख्तार का बी वारंट और उसके दोनों बेटों को इनामी घोषित किया गया है। मुख्तार के बड़े बेटे पर सरकारी जमीन पर अवैध टावर निर्माण का मामला दर्ज है। इन दोनों टावरों को लखनऊ डेवलपमेंट अथॉरिटी ने 27 अगस्त को ध्वस्त कर दिया था। इस मामले में जियामाऊ के लेखपाल सुरजन लाल ने मुख्तार और उनके दोनों बेटों आबास और उमर के खिलाफ हजरतगंज थाने में जालसाजी, साजिश रचने, जमीन पर अवैध कब्जा करने के मामले में लिखित एफआईआर दर्ज कराई थी।

मुख्तार अंसारी का शूटर बेटा अब्बास

क्या है शत्रु संपत्ति का मामला –

बता दें की ये ज़मीन मोहम्मद वसीम के नाम से दर्ज थी। सरकारी अभिलेखों में दर्ज जानकारी के मुताबिक 1952 में वो पाकिस्तान चला गया जिसके बाद वो संपत्ति निष्क्रांत यानी शत्रु संपत्ति हो गई। जिसके बाद ये साड़ी जानकारी इकठ्ठा कर फर्जी दस्तावेजों को बना मुख्तार अंसारी के बेटों ने कब्ज़ा करके इसी जमीन पर दो टावरों का निर्माण करा दिया। यहीं एक मस्जिद का निर्माण भी करा लिया।

तलाशी के दौरान इटली से ऑस्ट्रिया के असलहे मिले थे –

लखनऊ की महानगर कोतवाली में शस्त्र लाइसेंस के मामले में मुख़्तार के एक बेटे अब्बास पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज हुआ था। आब्बास अंसारी नेशनल शूटर है। इस मामले में जाँच UPSTF ने जांच की थी। मामला दर्ज होने के बाद उप पुलिस की टीम ने अब्बास के दिल्ली स्थित किराये के मकान की तलाशी ली थी, जिसमें वहां इटली से ऑस्ट्रिया तक के असलहे मिले थे।

अब्बास पर ये भी आरोप है कि उसने जिलाधिकारी की परमिशन के बिना अपना शस्त्र लाइसेंस दिल्ली के पते पर ट्रांसफर करा लिया और वहां पांच असलहे और खरीदे थे।

अब इनाम घोषित होने के बाद जल्द मुख्तार अंसारी के दोनों बेटों की गिरफ्तारी हो सकती है।

Related Articles