यूपी बोर्ड से जुडी बड़ी खबर, 10वीं व 12वीं बोर्ड की परीक्षा के लिये बढ़ाए गए परीक्षा केंद्र

इलाहबाद: उत्तर प्रदेश में यूपी बोर्ड (U.P Board) की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षाएं अप्रैल 2021 में आयोजित करने की तैयारी की जा रही है। दुनिया भर में कोरोना महामारी फैलने की वजह इस साल की परीक्षाएं देर से हो रही है। वहीं इस साल परीक्षा केंद्र भी बढ़ा दिया गया है। यूपी बोर्ड (U.P Board) की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षा 2021 के लिए 8497 परीक्षा केंद्र बनाए गये हैं, ताकि परीक्षार्थियों को परीक्षा देने में कोई परेशानी न हो सके।

कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखते हुए इस बार 714 परीक्षा केंद्र बढ़ा दिया गया हैं। कोरोना संक्रमण के कारण सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए परीक्षा के लिए ज्यादा सीटों और जगह की जरूरत पड़ रही है। यूपी बोर्ड ने इसको ध्यान में रखते हुए परीक्षा केंद्रों की संख्या बढ़ा दी है। यूपी बोर्ड के सचिव दिव्यकांत शुक्ल ने इस संदर्भ में जानकारी साझा की है।

ये भी पढ़ें : पंजाब सरकार और कांग्रेस पार्टी ने किसानों को हिंसा के लिए उकसाया- केंद्र सरकार

नकल पर लगेगी लगाम

इसके अलावा हाई स्कूल और इंटर की परीक्षा में नकल पर लगाम लगाने के लिए उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद (UP BOARD) ने काम शुरू कर दिया है। बोर्ड ने इस साल हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा के लिए 312 स्कूलों को डिबार किया है। इसमें 51 स्कूल ऐसे हैं, जिनमें अनियमितता की गंभीर शिकायत मिली थी. यूपी बोर्ड ने इन स्कूलों को हमेशा के लिए प्रतिबंधित कर दिया है।

ये भी पढ़ें : लाठीचार्ज का वीडियो वायरल, किसानों का धरना ध्वस्त करने पहुंची पुलिस

यूपी बोर्ड ने पिछले साल 2020 में 433 स्कूलों को काली सूची में रखा था, जो स्कूल डिबार किये गए हैं। इनमे पिछली परीक्षाओं में सामूहिक नकल, कापी, पेपर बदलने सहित तमाम अनियमितताएं मिलीं थीं। यूपी बोर्ड ने अबकी बार सबसे अधिक अलीगढ़ के 60 स्कूल डिबार किए हैं। इसके अलावा फीरोजाबाद के 24, प्रयागराज के 17, प्रतापगढ़ के 14, मथुरा के 11, आगरा व गोरखपुर के 10-10 स्कूलों को केंद्र निर्धारण प्रक्रिया से बाहर किया गया है।

 

Related Articles