दिसंबर से पहले आतंकियों का बड़ा प्लान, ‘टेस्ट लेकर’ संगठन में युवाओं की करेंगे भर्ती

जम्मू-कश्मीर: जम्मू-कश्मीर में आए दिन बढ़ रहे आतंकियों की कमर सेना और सुरक्षा बलों ने तोड़ कर रख दी है। यहां पर ताबड़तोड़ एंकाउंटर में आतंकियों को ढेर किया जा रहा है। पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई को इस बात की चिंता सता रही है कि सर्दियों का मौसम कुछ महीनों में आने वाला है, ऐसे में बचे दो महीनों में अगर घुसपैठ या फिर घाटी में मौजूद आतंकियों तक हथियार नहीं पहुंचाए गए तो फिर आगे क्या होगा? ऐसे में आईएसआई ने भरोसेमंद आतंकियों की टीम बनाने के लिए एक नई रणनीति बनाई है।

खुफिया रिपोर्ट से खबर मिली है कि इस रणनीति के तहत कश्मीर में आतंकी तंजीमों में शामिल करने से पहले युवाओं से आतंकी वारदात को अंजाम दिलवाने की योजना बनाई है। अगर वो ये काम करने में सफल हुए तो तंजीमों में शामिल किया जाएगा। कुल मिलाकर उन्हें संगठन में शामिल करने से पहले उनका टेस्ट लिया जाएगा। जैसे घाटी में पत्थरबाजी के दौर में आतंकी युवाओं के हाथों में पत्थर थमा देते थे, अब पत्थर की जगह हैंडग्रेनेड थमाए जाने का प्लान है।

खतरनाक प्लान

इन युवाओं के हाथों में पहले एके 47 के बजाए छोटे हथियारों जैसे पिस्टल ,रिवॉल्वर और ग्रेनड नए रिक्रूट दिए जाने की तैयारी है। इससे आईएसआई और आतंकियों के एक साथ दो मतलब पूरे हो सकते हैं। पहला तो वारदात को अंजाम तो दूसरी जिस भी युवा के हाथों में हथियार होगा और इस्तेमाल किया जाएगा तो उसके घरवापसी की संभावनाएं भी कम हो जाएंगी।

Related Articles