IPL
IPL

PF में जमा करने वालो को बड़ी राहत, टैक्स फ्री निवेश की बढ़ी सीमा, पढ़ें पूरी खबर

नई दिल्‍ली: केंद्र सरकार वेतनभोगी कर्मचारियों को इस वर्ष बड़ी राहत दी है। सरकार ने अपने वित्त विधेयक 2021 में कुछ संशोधन किया है जो लोकसभा में पारित हो चुका है। केंद्र सरकार ने प्रॉविडेंट फंड (PF) में निवेश की गई रकम पर मिले ब्याज पर छूट की सीमा को बढ़ाकर 5 लाख रुपये कर दिया है। इस छूट का लाभ सिर्फ वहीं कर्मचारी उठा सकते है, जिनकी कंपनी की तरफ से पीएफ (PF) में कोई योगदान नहीं दिया जाता है। आपको बता दें कि बजट 2021 की घोषणाओं में पीएफ में ज्यादा योगदान के जरिये टैक्स छूट का फायदा उठाने वाले लोगों को तगड़ा झटका लगा था।

वित्त मंत्री का बयान

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि इससे पीएफ में निवेश करने वाले सिर्फ 1 फीसदी लोगों पर इसका असर पड़ेगा और बाकी लोगों का पीएफ में 2.5 लाख रुपये से कम ही योगदान है। वित्त मंत्री ने बजट 2021 में घोषणा में कहा था कि आपके ईपीएफ खाते में 2.5 लाख रुपये से अधिक निवेश होता है तो अतिरिक्त निवेश से मिलने वाले ब्याज पर टैक्स चुकाना पड़ेगा, क्योंकि उसमें नियोक्ता भी अपनी तरफ से योगदान देता है। वहीं, अगर आप तय 12 फीसदी के अतिरिक्‍त वॉलिंटरी प्रोविडेंट फंड और पब्लिक प्रोविडेंट फंड में निवेश करते हैं तो आप 5 लाख रुपये तक के कुल पीएफ निवेश पर मिलने वाले ब्याज पर टैक्स छूट पा सकते हैं।

ये भी पढ़ें : कैंसर को हराया है ,कोरोना से भी जीत जाएंगे : Sanjay

बजट 2021 में इन्हें लगा था झटका

बजट 2021 की घोषणाओं से पीएफ में ज्यादा योगदान के जरिये टैक्स छूट का फायदा उठाने वाले लोगों को तगड़ा झटका लगा था। अच्छी कमाने वाले लोग अभी तक टैक्स-फ्री होने पर पीएफ का इस्तेमाल करते थे, लेकिन इस बजट में ये छूट सीमित कर दी गई थी। एक साल में 2.5 लाख रुपये से ज्यादा पीएफ जमा करने पर मिलने वाला ब्याज टैक्स के दायरे में आना था। इससे हाई-इनकम सैलरीड लोगो पर सीधा असर पड़ता, जो टैक्स फ्री इंट्रेस्ट कमाने के लिए पीएफ का इस्तेमाल करते थे।

ये भी पढ़ें : निर्माणधीन इमारत की दीवार गिरने से हुआ बड़ा हादसा, कई मजदूरों की गई जान

Related Articles

Back to top button