फूलन देवी की मौत को लेकर उनकी बहन ने किया बड़ा खुलासा, शेर सिंह राणा को बताया बेक़सूर

आगरा: चंबल की घाटी से लेकर संसद तक का सफ़र तय करने वाली फूलन देवी की हत्या को लेकर एक ऐसा खुलासा किया है, जिसने अभी तक इस मामले के मुख्य आरोपी समझे जा रहे शेर सिंह राणा को निर्दोष करार दिया है। यह खुलासा फूलन देवी हत्याकांड मामले की मुख्य गवाह और फूलन देवी की छोटी बहन मुन्नी देवी ने किया है।

दरअसल, मुन्नी देवी ने अपने एक बयान में कहा है कि शेर सिंह राणा ने फूलन देवी की हत्या नहीं की है, उसे सिर्फ फंसाया जा रहा है। बल्कि इस घटना को उनके पति उम्मेद सिंह ने अंजाम दिया था। मुनि देवी ने यह खुलासा बीते दिन आगरा में अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के राष्ट्रीय सम्मेलन में उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए किया। उन्होंने कहा कि शेर सिंह राणा सरकार के बनाए हुए गहरे षडयंत्र का शिकार हुआ है।

मुन्नी देवी ने न्यायपालिका से अपील की कि असली अपराधी को सलाखों के पीछे भेजकर ऐतिहासिक सजा दी जाए। मुन्नी देवी ने मांग की कि शेर सिंह राणा को 13 साल बेकसूर जेल में रखने के लिए उसे मुआवजा दिया जाना चाहिए।

मुन्नी देवी ने कहा कि दीदी (फूलन देवी) का पति उम्मेद सिंह उनकी हत्या के लिए जिम्मेदार है। उम्मेद ने दीदी ने झूठ बोला कि वह कुंवारा है और उससे शादी कर ली। बाद में बहन जी को उसकी पहली पत्नी और बेटी के बारे में पता चला। मुन्नी देवी ने आरोप लगाया कि उम्मेद सिंह ने फूलन देवी से सिर्फ उसका रसूख और पैसा पाने के लिए शादी की थी।

आपको बता दे कि बैंडिड क्वीन के नाम से मशहूर फूलन देवी की हत्या दिल्ली में उनके बंगले के बाहर कर दी गई थी, जिसका आरोप मुन्नी देवी और शेर सिंह राणा पर लगा था। इन्ही आरोपों के चलते दोनों ने 13 साल तक जेल में सजा भी काटी है। फूलन देवी की हत्या के 13 साल बाद दिल्ली की एक अदालत ने अगस्त 2014 को शेर सिंह राणा को दोषी करार दिया था।

 

Related Articles