गुजरात में लूट की बड़ी वारदात, बस हाईजैक कर लुटेरें सोना-चांदी से भरे तीन थैले लेकर फरार

0

अहमदाबाद: गुजरात में एक बड़ी लूट की वारदात का मामला सामने आय़ा है। इस घटना में लुटेरों ने तीन सोना-चांदी व्यापारियों को अपना निशाना बनाया है। घटना शुक्रवार की है जब अहमदाबाद के हीरा व हवाला कारोबार से जुड़े तीन व्यापारी करोड़ों की कीमत का सोना-चांदी लेकर राज्य परिवहन निगम की बस में सफर कर रहे थे।

इनका पीछा करते हुए अगले स्टैंड से नौ लुटेरे इस बस में सवार हुए। नंदासण गांव व वाटर पार्क के बीच एक लुटेरे ने बस ड्राइवर की कनपटी पर रिवॉल्वर लगाकर बस को एक तरफ खड़ी करने को कहा। इसके बाद लुटेरों ने पूरी बस को हाईजैक कर लिया औऱ बस की लाइट बंद कराकर धारदार हथियारों के बल पर चांदी व करीब दस लाख की नकदी लूट ली।

अभी इस मामले में पुलिस को किसी प्रकार की सफलता हाथ नहीं लगी है। लेकिन इस वारदात के लिए उपयोग में ली गई कार लावारिस हालत में बरामद की गई है। बरामद हुई इस गाड़ी की मदद से पुलिस लुटेरो तक पहुंचने का प्रयास कर रही है।

आपको बताते चले कि जहां पर यह वारदात हुई यह क्षेत्र अवैध कारोबार के लिए जाना जाता है। यहां रोजाना करोड़ो का लेनदेन होता है। खबर यह भी है कि लूटी हुई रकम अनुमान से ज्यादा भी हो सकती है। क्योंकि लुटेरे सोना-चांदी से भरे तीन थैले ले गए है।

ये तीन कर्मचारी प्रवीण,जयंती और अंबलाल डीसा से इस बस पर चढ़े थे। लुटेरों को इस बात की पूरी जानकारी थी कि ये तीन व्यापारी नियमित रूप से सोना चांदी लेकर यहां से निकलते है। फिराक लगाए लूटेरों ने शुक्रवार को इस वारदात को अंजाम दे दिया। बस का नंबर जीजे 18, जेड 4335 है जबकि लुटेरों के उपयोग में ली गई कार का नंबर जीजे 18 बीए 5087 है, दोनों एक ही आरटीओ ऑफिस गांधीनगर में पंजीक्रत हैं।

इस मामले में ऊंझा के व्यापारी विष्णु भाई पटेल ने लूट की शिकायत दर्ज कराई है। इस वारदात को उन्होंने पूरी तरह फिल्मी तरीके से अंजाम देकर साथ लाए एसयूवी कार से फरार हो गए, जो शुक्रवार दोपहर खेरालू गांव के पास लावारिस पडी मिली है। कार का नंबर लाघजण पुलिस थाना इलाके में हुई। इस वारदात का कोई ठोस सुराग पुलिस अभी तक नहीं खोज पाई है। पुलिस काफी गंभीरता से इस पूरे मामले की जांच कर रही है।

loading...
शेयर करें