चीन को एक और बड़ा झटका, रेलवे ने वंदे भारत प्रोजेक्ट से चाइनीज कंपनी को किया बाहर

नई  दिल्ली, भारत और चीन के बीच सीमा पर तनाव के बाद से ही चाइनीज सामानों और वहां की कंपनियों को भारत से बाहर करने की मांग हो रही है। सरकार ने भी इस दिशा में कई कठोर कदम उठाये है। इसी के तहत भारतीय रेलवे ने भी बड़ा फैसला लेते हुए चाइनीज कम्पनी को वंदे भारत प्रोजेक्ट से बाहर कर दिया है। इंडियन रेलवे ने ट्रैन सेट निर्माण के लिए होने वाली नीलामी से चाइनीज कंपनी को अयोग्य करार देते हुए बाहर का रास्ता दिखा दिया।

इसे भी पढ़े: पहली जनवरी से सभी वाहनों के लिए फास्टैग होगा अनिवार्य: गडकरी

वंदे भारत ट्रैन सेट प्रोजेक्ट में 44 डिब्बों का निर्माण किए जाना है। जिसके लिए तक़रीबन 1800 करोड़ रूपये की राशि तय की गई है। इस नीलामी में केवल तीन कंपनियों को शामिल किया गया था, लेकिन उसमें से चाइनीज कंपनी को बाहर कर देने से अब सिर्फ दो कंपनियां होड़ में रह गई है। इस बड़े प्रोजेक्ट की नीलामी में तीन कंपनियों में BHEL, Medha Servo Drives और एक चाइनीज कंपनी सीआरपीसी पायनियर इलेक्ट्रिक इंडिया (CRRC-Pioneer Electric India) शामिल थी। लेकिन इंडियन रेलवे ने चाइनीज कंपनी के कंसोर्टियम को अयोग्य बताते हुए नीलामी से बाहर का रास्ता दिखा दिया।

बता दें कि यह कंपनी “सीआरपीसी पायनियर इलेक्ट्रिक इंडिया” चीन की कंपनी CRRC Yongji Electric Ltd और भारत की कंपनी Pioneer Fil-Med Ltd की साझेदार वाली कंपनी है।.भारतीय रेलवे इन 44 डिब्बों को इंटीग्रल कोच फैक्ट्री (ICF) से खरीदेगा।

Related Articles

Back to top button