सोनू सूद को लेकर BMC का बड़ा बयान कहा- जान बुझ कर कराते है अवैध निर्माण 

मुम्बई: बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) (BMC) ने बंबई उच्च न्यायालय (Bombay High Court) में मंगलवार को दाखिल हलफनामे में कहा है कि बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद (Sonu Sood) ‘आदतन अपराधी’ हैं, जो पहले दो बार विध्वंस कार्रवाई के बावजूद उपगनरीय जूहू में एक रिहायशी इमारत में अवैध रूप से निर्माण कार्य करवाते रहे हैं।

बीएमसी ने जारी किया था नोटिस

बीएमसी (BMC) ने पिछले साल अक्टूबर में सोनू सूद को नोटिस जारी किया था। उस नोटिस को सोनू सूद (Sonu Sood) ने दिसंबर 2020 में दिवानी अदालत में चुनौती दी, लेकिन अदालत ने उनकी याचिका खारिज कर दी। इसके बाद उन्होंने बंबई उच्च हाईकोर्ट का रुख किया। उच्च न्यायालय ने बीएमसी को इस मामले में हलफनामा दाखिल करने के लिए कहा था।

सोनू सूद पर अवैध निर्माण कराने का आरोप

बीएमसी ने नोटिस में आरोप लगाया था कि सोनू सूद (Sonu Sood) ने छह मंजिला ‘शक्ति सागर’ रिहायशी इमारत में ढांचागत बदलाव कर उसे वाणिज्यिक होटल में तब्दील कर दिया। नगर निकाय ने अपने हलफनामे में कहा, याचिकाकर्ता आदतन अपराधी हैं और अनधिकृत कार्य से पैसा कमाना चाहते हैं। लिहाजा उन्होंने लाइसेंस विभाग की अनुमति के बगैर ध्वस्त किए गए हिस्से का एक बार फिर अवैध रूप से निर्माण कराया ताकि इसे होटल के रूप में इस्तेमाल किया जा सके।

बीएमसी ने सितंबर 2018 में अवैध निर्माण के लिए प्रारंभिक कार्रवाई शुरू की गई थी, लेकिन सूद ने अवैध निर्माण जारी रखा। 12 नवंबर 2018 के अनधिकृत निर्माण को ध्वस्त करने की कार्रवाई शुरू की गई।

यह भी पढ़ें: नोएडा: चाकू से गोदकर युवक की हत्या, सार्वजनिक शौचालय में मिली खून से सनी लाश

यह भी पढ़ें: घबराने की नहीं जरूरत, इंसानों में नहीं फैलता बर्ड फ्लू वायरस

 

Related Articles

Back to top button