गुजरात चुनाव से पहले राष्ट्र के लिए राहुल उठाने जा रहे सबसे बड़ा कदम, बीजेपी के उड़े होश

0

अहमदाबाद। गुजरात विधानसभा चुनाव के दिन नज़दीक आ रहे हैं और ऐसे में हर पार्टी इसे जीतने की संभव कोशिश कर रही है। इस बार बीजेपी और कांग्रेस के बीच कांटे की टक्कर देखने को मिल रही है। ऐसे में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी एक बड़ा कदम उठाने जा रहे हैं, राहुल राष्ट्रीय ध्वज को पूरे सम्मान के साथ स्वीकार करेंगे।

यह भी पढ़ें : गुजरात में हार्दिक-कांग्रेस की दोस्ती के बीच आई ये बड़ी पार्टी, किया चौंकाने वाला ऐलान

राहुल शुक्रवार से गुजरात के दो दिवसीय दौरे पर हैं जहां वो दलित शक्ति केंद्र का दौरा करेंगे और राष्ट्रीय ध्वज को पूरे सम्मान के साथ स्वीकार करेंगे। साथ ही राहुल भारत को छुआ-छूत जैसी कुप्रथाओं से मुक्त करने के लिए भी शपथ लेंगे। दलित शक्ति केंद्र द्वारा जारी प्रेस रिलीज के मुताबिक ये भारत का सबसे बड़ा राष्ट्रीय ध्वज, है जो 125 फुट चौड़ा और 83.3 फुट ऊंचा है।

यह भी पढ़ें : हार्दिक-राहुल की डील पक्की, गुजरात में कांग्रेस का ये फार्मुला देख उड़े बीजेपी के होश

पहले दलित केन्द्र ने यह राष्ट्रीय ध्वज गुजरात के सीएम विजय रुपाणी को पेश किया था और उन्हें बाबा साहेब की तरह छुआ छूत प्रथाओं को खत्म करने की शपथ लेने के लिए कहा था। उस समय विजय रुपाणी ने इस राष्ट्रीय ध्यज को लेने से इंकार कर दिया था। गुजरात के सीएम की ओर से गांधीनगर कलेक्ट्रेट के अधिकारियों ने कहा था कि उनके पास राष्ट्रीय ध्वज रखने के लिए पर्याप्त जगह नहीं है, इसलिए मुख्यमंत्री इस ध्वज को नहीं ले सकते हैं।

यह भी पढ़ें : 2019 लोकसभा चुनाव में अगर कांग्रेस की हुई जीत, तो राहुल नहीं ये बनेंगे प्रधानमंत्री!

जो काम प्रदेश के सीएम नहीं कर पाए अब उसकी जिम्मेदारी राहुल गांधी उठाने जा रहे हैं। अब देखना होगा कि क्या राहुल गांधी को आने वाले चुनाव में इसका फायदा मिलेगा।

loading...
शेयर करें