सिंघू बॉर्डर पर निर्मम हत्या के मामले में बड़ी सफलता, एक गिरफ्तार, जानें हत्या की राज़

नई दिल्ली: दिल्ली के सिंघू बॉर्डर पर शुक्रवार सुबह प्रदर्शनकारियों के मंच के पास एक व्यक्ति का शव मिलने से हड़कंप मच गया। वहीं मामला संज्ञान में आने के बाद हरियाणा पुलिस ने निहंग सरबजीत सिंह को सिंघू बॉर्डर पर एक व्यक्ति की निर्मम हत्या के मामले में गिरफ्तार किया है। उसे शनिवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा।

आरोप है कि सिख धर्म के पवित्र ग्रंथ का अपमान करने के लिए निहंगों ने पहले पंजाब के तरनतारन जिले के चीमा खुर्द गांव के एक दलित व्यक्ति का हाथ काट दिया और फिर उसे बैरिकेड्स पर लटका दिया। जब तक पुलिस वहां पहुंची तब तक युवक की मौत हो चुकी थी। मृतक का पोस्टमार्टम सिविल अस्पताल में कराया गया, जिसके बाद पुलिस ने आईपीसी की धारा 302 और 34 के तहत प्राथमिकी दर्ज की।

संयुक्त किसान मोर्चा ने मोड़ा मुंह

सिंघू सीमा पर हुई इस हत्या के बाद किसान संगठन और आंदोलन में शामिल निहंग सिख आमने-सामने नजर आ रहे हैं। सीमा पर प्रदर्शन कर रहे किसानों के संयुक्त किसान मोर्चा ने इस हत्याकांड से मुंह मोड़ लिया है। किसान नेता जगजीत सिंह दल्लेवाल ने प्रेस वार्ता करते हुए कहा कि मृतक और निहंग दोनों से उनका कोई संबंध नहीं है।

दलित व्यक्ति की हत्या

निहंग समूह ने एक वीडियो जारी करते हुए कहा कि यह वही लोग थे जिन्होंने एक 35 वर्षीय दलित व्यक्ति की हत्या की क्योंकि उसने धार्मिक ग्रंथ का अपमान किया था।

इतने दिनों से चल रहा प्रदर्शन

आपको बता दें कि देश के विभिन्न हिस्सों, विशेषकर पंजाब, हरियाणा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के किसान पिछले साल नवंबर से दिल्ली की सीमाओं पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। ये सभी तीन कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग कर रहे हैं, जिससे उन्हें डर है कि न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) खत्म हो जाएगा और उन्हें बड़े कॉरपोरेट्स की दया पर छोड़ दिया जाएगा।

Related Articles