बिहार विधानसभा चुनाव: शराब बंदी के नाम पर बिहारियों को बनाया जा रहा तस्कर

चिराग पासवान ने ट्वीट कर कहा कि “शराब बंदी के नाम पर बिहारियों को तस्कर” बनाया जा रहा है। बिहार कि माताएँ-बहने अपने आप को तस्कर बनते नही देखना चाहती।

बिहार: लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) के अध्यक्ष चिराग पासवान ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर आरोप की बरसात कर दिया है। चिराग पासवान ने ट्वीट कर कहा कि “शराब बंदी के नाम पर बिहारियों को तस्कर” बनाया जा रहा है। बिहार कि माताएँ-बहने अपने आप को तस्कर बनते नही देखना चाहती। बिहार के मुख्यमंत्री के संग सभी मंत्रियों को पता है की बिहारी रोजगार के अभाव में शराब तस्करी के तरफ बढ़ रहा है लेकिन सब के सब को मानों सांप सूंघ लिया है।

नीतीश कुमार के तीसरे कार्यकाल में बिहार का मुख्यमंत्री चुने जाने के बाद 2016 में “शराब पर प्रतिबंध” लगा दिया गया था। नीतीश कुमार का कहना है कि शराबबंदी से अनगिनत लाभ हुए है और लोगों के जीवन के स्तर में सुधार हुआ है। इस काम के लिए “प्रधानमंत्री मोदी” ने भी राज्य के इस कदम की सराहना की है।

पहले से ही चिराग पासवान नीतीश कुमार पर आरोपों की बौछार करते रहे है। इससे पहले बिहार के गया जिले में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि नीतीश कुमार के द्वारा सात निश्चय योजना और हर घर नल से जल पहुंचाने का दावा पूरी तरह से फेल है और गांव देहात के इलाकों गरीब-गुरूबों से राशन कार्ड में भी पैसा लिया जा रहा है।

अफसरशाही को बढ़ावा देने वाली सरकार को उखाड़ फेंकने का आहान करते हुए कहा कि 28 अक्टूबर को समय से घर से निकलकर अपने मत का प्रयोग करें। निर्धारित समय से तकरीबन पांच घंटा विलंब से सड़क मार्ग से आए। चिराग पासवान ने बाराचट्टी से पार्टी प्रत्याक्षी रेणुका देवी को मत देने की अपील की है।

ये भी पढ़ें: मुख्यमंत्री ने मदद डेस्क का किया उदघाटन, महिलाओं की सुरक्षा को दी गयी सर्वोच्च प्राथमिकता

Related Articles

Back to top button