Bihar Budget 2021: बजट में 20 लाख लोगों को इसी साल रोज़गार देने का वादा

कोरोनाकाल में हुए विधान सभा चुनाव ( Bihar Assembly Election ) में मिली जीत के बाद ये बिहार की एनडीए सरकार ( NDA Government ) का पहला बजट है।

बिहार: बिहार विधानमंडल ( Bihar Assembly ) में आज पहली बार उपमुख्यमंत्री तारकेश्वर प्रसाद और नीतीश कुमार ( Nitish Kumar ) की नई सरकार का बजट पेश किया गया है। नीतीश सरकार के साल 2021-22 के बजट से आम से लेकर खास तबके के लोगों को बहुत उम्‍मीदें थी, और बजट को देख कर ;लगता है नितीश सरकार ने प्रदेश के लोगो का ध्यान करते हुए बजट का एलान किया है। बिहार में नीतीश सरकार ने 2 लाख 18 हजार 303 करोड़ रुपए का बजट पेश किया।

कोरोनाकाल में हुए विधान सभा चुनाव ( Bihar Assembly Election ) में मिली जीत के बाद ये बिहार की एनडीए सरकार ( NDA Government ) का पहला बजट है। बजट भाषण में अटल बिहारी वाजपेयीजी की मशहूर कविता का जिक्र किया गया। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा यह बजट हर वर्ग को ध्यान में रख कर बनाया गया है और अगर बात करे विकास की तो 2005 के बाद से विकास दर दोगुना हो चुकी है।

इन पर रहा खास फोकस 

  • हर खेत में पानी पहुंचाने की योजना के लिए 550 करोड़ एलॉट किए गए हैं।
  • सोलर स्ट्रीट लाइट के लिए 150 करोड़ का बजट प्रावधान किया गया है।
  • 2020-25 में रोजगार के 20 लाख रोज़गार देने का वादा किया गया। इसके लिए 2021-22 में 200 करोड़ रुपए खर्च होगा।
  • महिलाओं को उद्योग के लिए 5 लाख तक ब्याज मुक्त ऋण दिया जाएगा।
  • वाटर ड्रेनेज के लिए 470 करोड़ रुपये का प्रावधान
  • स्ट्रीट लाइट के लिए 150 करोड़ रुपये का प्रावधान
  • इंजीनियरिंग कॉलेज के लिए 110 करोड़ रुपये दिए जाएंगे।

उत्तर प्रदेश सरकार ने भी किया बजट पेश 

योगी सरकार ने अपने कार्यकाल का अंतिम बजट पेश कर दिया हैं, योगी आदित्यनाथ के वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना आज यानि सोमवार को योगी सरकार का पांचवां और इस कार्यकाल का आखिरी बजट पेश किया। उन्होंने इन पंक्तियों के साथ बजट की घोषणा की..यकीन हो तो कोई रास्ता निकलता है, हवा की ओट भी लेकर चिराग जलता है… 5 लाख 50 हज़ार 270 करोड़ 78 लाख के इस बजट में 27 हजार 598 करोड़ 40 लाख रुपये की नई योजनाएं शामिल की गई हैं।

यह भी पढ़े: क्या देश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए डिफेंस को भी निजी क्षेत्रों के हवाले कर देगी सरकार?

Related Articles

Back to top button