बाढ़ पीड़ितों की मसीहा बनीं बिहार की महिला मुखिया

0

पटना| बिहार में आई बाढ़ से चारों तरफ तबाही का मंजर देखा जा रहा है। लेकिन इसके विपरीत इनको सुविधा देने के बजाय राजनीतिक दल एक दूसरे पर बयान बाजी कर रहे है। वहीं राज्य के सीतामढ़ी जनपद के सिंहवाहिनी पंचायत की महिला मुखिया इस पंचायत के लोगों को मुख्य धारा में लाने के लिए पूरी ताकत से जुटी हुई हैं।

आपकों बता दें की पंचायत में अधवारा और मरहा नदी में आए उफान ने यहां पर सबसे अधिक तबाही मचाई थी। जिसके कारण लोगों का जीवन पटरी से उतर गया था। तभी इन लोगों के बीच मसीहा बनकर यहां की मुखिया रितु जायसवाल मदद करने के लिए सामने आईं। और पूरी लगन व सभी प्रकार से सहायता करने में जुट गई।

रितू जहां एक ओर गांव की मुखिया है वहीं एक आईएएस अधिकारी की पत्नी भी हैं। जो (अलायड) अधिकारी हैं और मौजूदा वक्तप में दिल्ली में केंद्रीय सतर्कता आयोग में पदाआसीन हैं।

रितु कहती है कि, बाढ़ का कहर पंचायत के लोगों के जीवन में दुख, पीड़ा, हताशा छोड़ दिया है। हम लोग पिछले एक साल में काफी तेजी से आगे बढ़े थे। जिसकी गवाही यहां की पक्की सड़कें, बिजली से जले बल्ब दे रहे थे। जो शायद प्रकृति को यह मंजूर नहीं था।

यह भी पढ़े- सालों में दीमक खा गये पूरा गांव, हाथ से बाहर हुई समस्या

अधवारा और मरहा नदी की आई बाढ़ ने स्थिति को पहले से भी बुरे हालात में पहुंचा दिया है। इसके बावजूद रितु ने हार नहीं मानी है। और वो पूरी तरह से लोगों के विकास में जुटी हुई हैं।

loading...
शेयर करें