आज बिहार के ‘महागठबंधन’ पर होगा बड़ा फैसला, आर-पार की लड़ाई को तैयार हैं नीतीश

0

पटना। बिहार की राजनीति दिन पर दिन गरमाती जा रही है। तमाम कोशिशों के बाद भी महागठबंधन में समझौता होते नहीं दिख रहा है। सीएम नीतीश कुमार अब कड़े फैसले करने के मूड में दिख रहे हैं। वहीं, बवाल को खत्म करने के लिए कांग्रेस अंतिम समय तक कोशिश करने में लगी हुई है। लालू प्रसाद यादव ने साफ कर दिया है कि डिप्‍टी सीएम तेजस्वी प्रसाद यादव इस्तीफा नहीं देंगे। उधर जेडीयू भी अपनी मांग पर अड़ा हुआ है।

नीतीश कुमार

आज होने वाली बैठक में इस बाबत किसी ‘कड़े फैसले’ की संभावना है

जदयू की आज होने वाली बैठक में इस बाबत किसी ‘कड़े फैसले’ की संभावना है। रेल होटल घोटाले में लालू प्रसाद यादव व उनके परिवार के खिलाफ सीबीआई छापे के बाद जेडीयू ने लालू प्रसाद और तेजस्वी यादव को सफाई देने का जो अल्टीमेटम दिया था, उसकी मियाद शनिवार को खत्म हो चुकी है। वहीं, कांग्रेस अभी भी सुलह कराने में लगी हुई है। इसी क्रम में जेडीयू के वरिष्ठ नेता शरद यादव और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की शनिवार रात मुलाकात हुई है।

शरद और सोनिया दोनों बिहार में महागठबंधन की सरकार जारी रखना चाहते हैं

सूत्रों के मुताबिक शरद और सोनिया दोनों बिहार में महागठबंधन की सरकार जारी रखना चाहते हैं। महागठबंधन के सूत्रों ने बताया कि सोनिया गांधी के घर पर हुई यह मुलाकात करीब 40 मिनट तक चली। इस दौरान दोनों नेताओं ने बिहार में जारी गतिरोध पर चर्चा की और इसके समाधान के लिए रास्ता तलाशने पर भी बात हुई। जेडीयू की रविवार को एक अहम बैठक होने वाली है। जेडीयू के वरिष्ठ नेताओं का कहना है कि पार्टी भ्रष्टाचार के मामले पर कोई समझौता नहीं करने वाली है।

नीतीश के साथ कार्यक्रम में नहीं पहुंचे तेजस्वी

शनिवार को पटना के ज्ञान भवन में महागठबंधन के दो घटक दलों की दूरियां और बढ़ती दिखी। कौशल विकास से संबंधित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ तेजस्वी यादव को भी शिरकत करना था। नीतीश पहुंच गए, लेकिन तेजस्वी नहीं आए। मंच पर उनकी सीट के आगे लगी नेमप्लेट पहले ढक दी गई, बाद में उसे हटा लिया गया। इसे लेकर तरह-तरह की चर्चाएं शुरू हो गईं।

loading...
शेयर करें