काठमांडू घोषणापत्र जारी होने के बाद समाप्त हुआ बिम्सटेक शिखर सम्मेलन

0

काठमांडू: चौथा बिम्सटेक शिखर सम्मेलन शुक्रवार को 18 बिंदुओं के काठमांडू घोषणापत्र के जारी होने के बाद समाप्त हो गया। घोषणापत्र के विवरण को जल्द ही सार्वजनिक किया जाएगा। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। सदस्य देशों ने बिम्सटेक ग्रिड इंटरकनेक्शन की स्थापना के लिए एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए।

शिखर सम्मेलन के समापन पर नेपाल के प्रधानमंत्री के.पी.ओली ने कहा, “यह मेरा दृढ़ विश्वास है कि यह शिखर सम्मेलन बिम्सटेक को एक गतिशील, प्रभावी और परिणाम-उन्मुख संगठन बनाने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है।”बिम्सटेक 6 जून 1997 को बैंकॉक घोषणापत्र के जरिए अस्तित्व में आया था।

इसमें बंगाल के खाड़ी के तटवर्ती व आसपास के सात देश शामिल हैं। इनमें बांग्लादेश, भूटान, भारत, म्यांमार, नेपाल, श्रीलंका व थाईलैंड शामिल हैं। यह संगठन दुनिया के 1.6 अरब लोगों यानी करीब 22 फीसदी आबादी का प्रतिनिधित्व करता है।

loading...
शेयर करें