देश पर मंडरा रहा बर्ड फ्लू (Bird Flu) का खतरा, अब तक 1700 पक्षियों की मौत

बर्ड फ्लू का खतरा बढ़ता हुआ नजर आ रहा है। अब तक 1700 पक्षियों की मौत की खबर से हर तरफ सनसनी मच गई है। पोस्टमार्टम की रिपोर्ट में पक्षियों में H5 N1 वायरस मिला है।

नई दिल्ली: देश पर से कोरोना का खतरा अभी पूरी तरह से टला ही नहीं था कि एक और संकट ने दस्तक दे दी। अब राज्य में बर्ड प्लू ने सभी के रातों की नींद उड़ा रखी है। इस बर्ड प्लू (Bird Flu) के कारण कांगड़ा के पौंग झील में लगभग 1700 प्रवासी पक्षियों की मौत हो गई। मृतक पक्षियों के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया था। पोस्टमार्टम की रिपोर्ट में पक्षियों में H5 N1 वायरस मिला है जो कि बर्ड फ्लू की पुष्टि करता है।

देश पर मंडरा रहा बर्ड फ्लू का खतरा, अब तक 177 पक्षियों की मौत
Bird Flu

पक्षियों की जांच रिपोर्ट आई पॉजिटिव

स्थानीय प्रशान ने पौंग डैम में मृत पाए गए पक्षियों के सैंपल को जांच के लिए भोपाल भेजा था। जांच में इन पक्षियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। वहीं, वन विभाग का कहना है कि इतनी बड़ी संख्या में पक्षियों की मौत के बाद प्रशासन ने ये कदम उठाया था। भोपाल से आई रिपोर्ट में सभी पक्षियों में H5N1 एवियन इनफ्लुंजा के वायरस मिले हैं।

पौंग जलाशय में बनाई गई प्रवासी पक्षियों की सेंक्चुरी

बता दें कि हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला से करीब 300 किलोमीटर दूर कांगड़ा के पौंग जलाशय में इन प्रवासी पक्षियों की सेंक्चुरी बनाई गई है। यहां हर साल साइबेरिया और मध्य एशिया के ठंडे इलाकों से सर्दियों में लाखों की संख्या में परिंदे आते हैं और फरवरी-मार्च तक रहते हैं। इसके बाद ये पक्षी फिर से वापस लौट जाते हैं।

मध्य प्रदेश में कौओं की मौत से सनसनी

वहीं मध्य प्रदेश के इंदौर में एक कॉलेज में कौओं की मौत का मामला सामने आया है।  इनमें से दो कौओं में ‘एच-5 एन-8’ वायरस का पता चला है। मामले की गंभीरता को देखते हुए एकीकृत रोग निगरानी कार्यक्रम (आईडीएसपी) के अतिरिक्त संचालक डॉ। शैलेष साकल्ले इंदौर पहुंचे और पूरे मामले की समीक्षा की।

अब तक 1700 पक्षियों की मौत

इस साल अबतक मात्र कुछ ही दिनों में 1700 पक्षियों की मौत हो चुकी है। मामले की गंभीरता को देखते हुए जिला प्रशासन ने इस जलाशय के आसपास चिकन, अंडे समेत पोल्ट्री उत्पादों की बिक्री पर रोक लगा दी है। साथ ही क्षेत्र को अर्लट जोन घोषित कर दिया  गया है। पर्यटकों के जाने पर भी रोक लगा दी गई है।

गूजरात में 53 पक्षियों की मौत

गुजरात के जूनागढ़ के बांटला गांव में भी 53 पक्षियों की एक साथ मौत हो गई। हालांकि अभी तक इन पक्षियों की मौत के कारणों का पता नहीं चला है, लेकिन आशंका है कि बर्ड फ्लू (Bird Flu) के कारण इन पक्षियों की मौत हुई है।

राजस्थान में बनाया गया कंट्रोल रूम

उधर, राजस्थान के जयपुर समेत 7 जिलों में सैकड़ों कौओं की मौत की सूचना है। राज्य  सरकार ने मामले को गंभीरता से लेते हुए कंट्रोल रूम बनाया है और चार संभागों में विशेषज्ञों की टीम भी भेजी है।

यह भी पढ़ें: कोरोना ( Corona ) के बढ़ते मामलों को देखते हुए इस देश में लगा लॉकडाउन ( Lockdown )

यह भी पढ़ें: घातक हमले के बाद, नाइजर में तीन दिन के राष्ट्रीय शोक (National mourning) की घोषणा

Related Articles